अगस्त से अक्टूबर के बीच आएगी कोरोना की तीसरी लहर, महामारी से निपटने की हो रही है तैयारी

0
20

भुवनेश्वर, अगस्त से अक्टूबर के बीच कोरोना की तीसरी लहर आने वाली है। तीसरी लहर के लिए हम तैयार हैं, जरूरत के हिसाब से सभी प्रकार के कदम उठाए जा रहे हैं। यह जानकारी बुधवार को राज्य स्वास्थ्य निदेशक विजय महापात्र ने दी है। राज्य स्वास्थ्य निदेशक महापात्र ने कहा है कि देश में 54 जिले में संक्रमण बढ़ने की जानकारी केन्द्र सरकार की तरफ से दी गई है। अच्छी बात यह है कि इस 54 जिले में ओडिशा के एक भी जिले शामिल नहीं है। वर्तमान समय तक हम दूसरी लहर से बाहर नहीं निकल पाए हैं। कुछ जिलों में संक्रमण कम होने का नाम नहीं ले रहा है। खासकर खुर्दा एवं कटक जिले में संक्रमण लगातार तीन अंक में रह रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि यदि इन दोनों शहरों में लोगों का आवागमन ज्यादा हो रहा है, यही कारण है कि यहां संक्रमण की दर अधिक है।
राज्य स्वास्थ्य निदेशक ने कहा है कि आगे तीसरी लहर से निपटने के लिए सभी प्रकार की तैयारी की जा रही है। तीसरी लहर से निपटने के लिए जो भी जरूरी कदम उठाए जाने चाहिए, वह उठाए जा रहे हैं। सर्विलांस को अधिक महत्व दिया जा रहा है। राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे मौजूद स्थानों पर संक्रमण अधिक बढ़ रहा है। राज्य स्वास्थ्य निदेशक ने प्रदेश में हर दिन आ रहे मौत के आंकड़े पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि वर्तमान समय में जो मृत्यु के आकड़े आ रहे हैं, वह सब ऑडिट रिपोर्ट के जरिए आ रहे हैं। इसके लिए किसी को भयभीत होने की जरूरत नहीं है। यह ऑडिट कार्य कुछ ही दिनों में खत्म हो जाएगा।
गौरतलब है कि आज भी ओडिशा में कोरोना संक्रमण के 1703 नए मामले सामने आने के साथ ही 69 लोगों की मौत हो गई है। नए संक्रमित मरीजों में 988 क्वारेनटाइन से जबकि 715 स्थानीय लोग संक्रमित पाए गए हैं। इसमें खुर्दा जिले से सर्वाधिक 386 लोग संक्रमित हुए हैं जबकि कटक जिले से 240 नए मामले सामने आए हैं, जो सरकार एवं प्रशासन के साथ लोगों के लिए चिंता का कारण है।