अब अपने घरों से ही अलीपुर चिड़ियाघर के पक्षियों और जानवरों को देख पाएंगे,क्योंकि चिड़ियाघर प्रशासन फेसबुक पर इसका लाइव सत्र शुरू करने जा रहा है

18
388

कोलकाता: अब अपने घरों से ही अलीपुर चिड़ियाघर के पक्षियों और जानवरों को देख पाएंगे, क्योंकि चिड़ियाघर प्रशासन फेसबुक पर इसका लाइव सत्र शुरू करने जा रहा है। शहर के शीर्ष पर्यटन स्थलों में से एक यह चिड़ियाघर कोविड-19 महामारी के कारण दर्शकों के लिए बंद है। पश्चिम बंगाल के वन मंत्री राजीब बनर्जी ने रविवार को इस पहल की शुरुआत करते हुए कहा कि लाइव सत्र सुबह और दोपहर में एक-एक घंटे के लिए आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘हर साल लगभग 35 लाख पर्यटक अलीपुर चिड़ियाघर घूमने जाते हैं। इनमें से कई पर्यटक नियमित तौर पर और साल में कम से कम एक बार चिड़ियाघर जरूर जाते हैं। हम बच्चों समेत इन लोगों को अब और ज्यादा समय तक इससे वंचित नहीं करना चाहते हैं।’’ उन्होंने कहा कि पहला सत्र सुबह 9 बजे से 10 बजे तक होगा, जबकि दूसरा दोपहर 3 बजे से 4 बजे तक होगा। उन्होंने कहा, ‘‘हम प्रतिक्रिया के आधार पर समय बढ़ा सकते हैं।’’ महामारी के कारण चिड़ियाघर 16 मार्च से जनता के लिए बंद है।(UNA)

18 COMMENTS

  1. I do not even know how I ended up right here, however I thought this submit was once great. I don’t know who you might be but definitely you’re going to a famous blogger should you are not already 😉 Cheers!

  2. I would like to thank you for the efforts you have put in writing this site.
    I’m hoping to check out the same high-grade blog posts by you later on as well.
    In fact, your creative writing abilities has encouraged me to
    get my very own site now 😉

  3. Hi! I realize this is kknd of off-topic however I had to ask.
    Does operating a well-established website like youts require
    a large amount of work? I am brand new to running a blog but I do write in my diary daily.
    I’d ike to start a bloog soo I will be able to share
    my personal experience and feelings online. Please let
    me know if you have any kind of recommmendations or tips foor
    brand new aspiring bloggers. Thankyou!
    homepage

  4. I must convey my passion for your kindness giving support to people that really want help on the subject. Your very own commitment to getting the message all over appears to be amazingly interesting and have without exception made workers just like me to achieve their goals. Your new important guideline denotes so much a person like me and substantially more to my mates. Warm regards; from everyone of us.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here