आखिर इन सिसकते मजदूरों के दर्द का मसीहा कौन होगा ?

17
540
पूरे विश्व की सभी शक्तिशाली देश आज कोरोना जैसे महामारी का शिकार हो चुका है ,हमारा देश भारत भी आज इसका अछूता नहीं रहा है !
परन्तु इस हालात में भारत मे एक गजब की भयावह तस्वीरें हर दिन देखने को मिल रही है जिससे दिल पसीज जाती है ,आँखों मे आँसू की बूंदे दस्तक दे देती है और सोचने को मजबूर कर देती है कि आखिर मजदूर होना इतना बड़ा पाप है क्या ? क्या  एक मजदूर की अहमियत इस लोकतांत्रिक देश मे इतनी मात्र है कि
हम इस आपातकाल के दिनों में मुम्बई ,दिल्ली ,सूरत ,चेन्नई समेत देश के कई कोनो से  अपनी मिट्टी अपनी जमीन को वापस आने के लिए दर – दर भूखे -प्यासे भटकते  पैदल वापस आना पड़ रहा है ! बीच सफर में  एक महिला मजदूर अपने बच्चे जन्म देती है और फिर 2 घन्टे के बाद अपने नवजात बच्चे को   उसकी माँ अपने गोदी में ले कर  तपते रस्ते में चल रही है !  आखिर ऐसा क्यों कि उस  दर्द से तड़पती माँ जो अपने बच्चे  को ले कर भरी दोपहरी में तपते सड़को पर  चलने की नौबत आ गई ! वहीं कई भयावह तस्वीरे जो  दिल को पसीज देती है ट्रकों में पशुओं की तरह मजदूर ढोऐ जा रहे हैं  ,कई मजदूर रेलवे की पटरियों में  रौंदे जाते हैं ? कई साइकिल  से व पैदल हज़ारों किलोमीटर का सफर तय करते हैं ? क्या देश की संचार व्यवस्था कहाँ चली गयी है देश की सरकार की संवेदना कहाँ चली गई है ,सरकार इस आपातकाल में अगर मजदूरों की रक्षा नहीं  कर सकती तो आखिर एक मजदूर व जनता क्यों सरकार चुनती है ????
 एक मजदूर देश के निर्माण में बहुमूल्य भूमिका निभाता है और उसका देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान होता है। किसी भी समाज, देश, संस्था और उद्योग में काम करने वाले मजदूरों की अहम भूमिका होती है। मजदूरों के बिना किसी भी औद्योगिक ढांचे के खड़े होने की कल्पना नहीं की जा सकती। इसलिए श्रमिकों का समाज में अपना ही एक स्थान है। लेकिन आज भी देश में मजदूरों के साथ अन्याय और शोषण कहीं ना कहीं से एक बड़ी सवाल खड़ी करती है ?
आज इस लॉकडाउन की वजह से रोजगार खत्म होने के चलते बेहद परेशान मजदूर भूखे-प्यासे तिल-तिल कर मरने के लिए मजबूर है,तथाकथित सरकार  मौन  महलों में बैठकर मजदूरों पर अत्याचार होता देख रहा है। इस सरकार की व्यवस्था के द्वारा मजदूरों के लिए लॉकडाउन के लगभग 45 दिन बीतने के बाद भी कोई अच्छी व्यवस्था नहीं बन पा रही हैं। जिससे उन्हे राहत मिले और ज़िंदगी मे राहत की थोडी सिसकी भरे !
2 पंक्तियों से इस निरंकुश सत्ता को मजदूरों की वेदना बताना चाहता हूँ शायद उनकी दिल पसीज जाए :
“हम मजदूर हैं ,देश की कर्णधार हैं ,
हममे हौसला है नंगे पांव हज़ारों गज चलने की,
पर हम मजदुर हैं ,
मुझे रोटी दो ,भूखे पेट हूँ
है भाग्यविधाता हमे हमारे हौसले ना तोड़ो ,
इस विकट काल में 2 रोटी दो और मेरा घर परिवार से मिलवा दो !”
आज इस आपातकाल में सबसे बड़ी प्रश्न यह उठ रही है कोई भी सरकार इस मजदूरों को उनके घर तक पहुचाने में इतनी कोताही क्यों बरत रही हैं ,आखिर सिस्टम क्यों इतनी बर्बस तरीके से इन गरीबों ,मजदूरों को भूखे पेट रास्ते मे चिलमिलाते कैसे देख पा रही है  ? क्यो उस सिस्टम में बैठे लोगों में वेदना ,संवेदना नहीं है ? क्यो उनके दिल मे मजदूरों के लिए एक पशु के सामान हैं???
लॉकडाउन के 50 दिन होने को है अभी तक सरकार के द्वारा मजदूरों की वेदना पर ध्यान नहीं गयी है जबकि सरकार को इस कोरोना की महामारी का अंदाजा है फिर भी नजरअंदाज कर रही है ! सरकार को शायद इस बात की जानकारी नहीं है कि भारत जैसे देश अगर सिस्टम ऐसे ही सोये रही और ऐसे ही इनकी रवैया रही तो देश मे कोरोना से कम भूख से ज्यादा मौते होगी ! जिस तरह इस आपदा काल मे देश के कौन- कौने से मजदूरों की स्थिति की खबरें आ रही है वह देशहित ,समाजहित ,जनहित के लिए बिल्कुल भी अच्छी नहीं है !
देश में इस आपदाकाल मे भी एक गंदी राजनीति के तहत जिस तरह प्रवासी  मजदूरों के  साथ सौतेला व्यवहार किया गया यह  इस लोकतांत्रिक देश मे बंधुवा मजदूरों की श्रेणी में खड़ा कर देती है! इतिहास इसे काले शब्दों में वर्णन करेगी कि इस आपदाकाल काल मे किसी भी देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी मजदूरों के साथ किस तरह का व्यवहार किया गया !
अगर हमारे देश की नीति निर्माता व सरकार व सिस्टम  चाहें तो हमारे देश की  रेलवे  व्यवस्था इतनी सुदृढ़ व सुगम परिवहन प्रणाली है कि  कुछ दिनों में ही सारे मजदूरों को वापस उनके घर पहुंचाने की क्षमता रखती है।
 बस दिक्कत है तो केवल सरकार के स्तर पर दृढ इच्छा शक्ति एवं उचित  फैसले लेने की क्षमता की है! और देश के नीतिनिर्माताओं के स्तर पर समय से निर्णय लेने की क्षमता की है।   इस प्रकार की निर्णय से देश मे मजदूरों की घबराहट के चलते बने आपाधापी के माहौल से बचा जा सकता है और मजदूरों की  अस्मिता की रक्षा अच्छे तरीके से की जा सकती है !
सरकार व सत्ता को एक उचित निर्णय  लेना होगा कि मजदूर को रोकना है या घर वापस भेजना है, रोकना है तो उनकी रोजीरोटी का इंतजाम अच्छे से करना होगा और घर वापस भेजना है तो निशुल्क रेल सेवा को तैयार करना होगा। तब ही पैदल, साईकिल, रिक्शा, थ्रीव्हीलर, ढेली व मालवाहक वाहनों में छिपकर जान की बाजी लगाकर श्रमिको ,मजदूरों का जाना रुकेगा।
नही तो इस  आपदाकाल मे सरकार देश मे परेशान बेबस ,लाचार  मजदूरों की गरिमा,जीवन  की रक्षा तभी संभव हो पाएगी कर पायेगी नहीं तो अभी घटित घटनाओं की पूर्णाविर्ती होती रहेगी और सरकार जीवन की रक्षा करने के बजाय मजदूरों की  शवों का दाम लगा कर मुआवजा वितरण कर अपने कर्तव्य का निर्वहन करेगी !
जरूरत है इस आपदा के समय सरकार उचित फैसला ले कर ,एक उचित जन हित फैसला लेकर बेबस जरूरमंद को एक नई जिंदगी देने की कार्य करेगी !
( लेखक प्रशिद्ध  युवा सामाजिक कार्यकर्ता ,लेखक ,मानवाधिकार संस्था एन एच आर सी सी बी के राष्ट्रीय अध्य्क्ष हैं!  केंद्रीय विश्वविद्यालय झारखंड एवं  IIM रांची के पालिसी ,लीडरशिप एवं शासन विषय के छात्र रहे चुके हैं !कई प्रमुख संस्थानों में सलाहकार सद्स्य ,कई राष्ट्रीय व राज्यस्तरीय सम्मान भी प्राप्त कर चुके हैं !)

17 COMMENTS

  1. I believe this website contains some rattling wonderful information for everyone :D. “The test of every religious, political, or educational system is the man that it forms.” by Henri Frdric Amiel.

  2. Cast: Nikki Riddle Genres: Anal, Creampie, BBC, Blowjob,
    Cum Swallowing, Deep Throat, Double Anal (DAP),
    Fisting, Gapes, Interracial, Piss Drinking, Sex Toy,
    Squirting Video language: English Catches one more piddle stream from her stud and acquires
    totally drenched in urinate, pouring his golden juices into her face hole.
    Format: mp4.

  3. I will right away grab your rss as I can’t in finding your e-mail subscription hyperlink or e-newsletter service. Do you have any? Please permit me recognise so that I may just subscribe. Thanks.

  4. The next time I read a blog, I hope that it doesnt disappoint me as much as this one. I mean, I know it was my choice to read, but I actually thought youd have something interesting to say. All I hear is a bunch of whining about something that you could fix if you werent too busy looking for attention.

  5. Ние ще очертаем плюсовете и минусите на игралните автомати онлайн, за да знаете, какво Ви очаква, когато решите да пуснете безплатните версии на игрите, както и да залагате с реални пари. Не бива да губим време, а да направим преглед на положителните и отрицателните страни на възможностите за участие в игрите, в техните безплатни варианти: По тази причина нашият екип винаги съветва първо да се пробват ротативките или игрите на маса, а след това да се включите в игрите на живо. Това, което понякога предлагат някои от казината е наблюдение на live казино игри – натискаш на въпросната игра и наблюдаващ как се играе. http://veselie-kartinki.ru/user/k6fyojc998 От догодина всеки, който спечели от игри с есемеси, както и от всякакъв хазарт – в зали, казина, или онлайн, няма да бъде задължен да декларира печалбата си пред данъчните и да плаща налог за нея. Ако приемем, че покерът не е хазартна игра, тогава дължимите данъци при печалба от покер биха били такива от осъществяване на независима икономическа дейност. Много важно при тези игри е да се определи дали печалбата се определя на случаен принцип, тоест не е обвързана с проява на знания, умения и други. За да е освободена от облагане, печалбата трябва да е определена на случаен принцип, тоест на късмет. В противен случай тя бива обложена с данък. (Нова – ДВ, бр. 1 от 2014 г., в сила от 1.01.2014 г.)

  6. Καζίνο kazino Με πιο απλά λόγια, αυτό το μπόνους ουσιαστικά καθορίζει το πόσο μεγάλο κέρδος θα έχετε. Μοναδικοί κουλοχέρηδες Με πιο απλά λόγια, αυτό το μπόνους ουσιαστικά καθορίζει το πόσο μεγάλο κέρδος θα έχετε. Αριθμολαχεία όπως το κίνο, το μπίνγκο, ακόμη και εκδοχές του λόττο. Τα ζάρια είναι ένα ακόμη αγαπημένο παιχνίδι των παικτών του καζίνο. Τα ζάρια είναι αγαπημένο παιχνίδι των αμερικάνικων καζίνο αλλά και στην ευρώπη κάθε καζίνο που σέβεται τον εαυτό του περιλαμβάνει ένα τουλάχιστον τραπέζι για craps στα παιχνίδια του…περισσότερα https://forums.m4fg.at/member.php?action=profile&uid=104267 Τα live παιχνίδια κατακτούν διαρκώς περισσότερους φίλους. Δεν είναι υπερβολή να ισχυριστεί κανείς ότι αποτελούν τα πλέον δημοφιλή παιχνίδια στα διαδικτυακά καζίνο. Ο λόγος δεν είναι άλλος από το γεγονός ότι τα live παιχνίδια στο ίντερνετ εξελίσσονται συνεχώς, προσφέροντας στους λάτρεις τους συναρπαστικές εμπειρίες. Betshop Live Casino Που μπορείς να παίξεις online δωρεάν φρουτάκια; Η απάντηση είναι πολύ απλή. Δωρεάν online φρουτάκια καζίνο μπορείς να παίξεις σε οποιαδήποτε διαδικτυακή εταιρία casino. Η Pokerstars, η Stoiximan είναι μερικές από αυτές τις σελίδες που διαθέτουν free slots.

  7. All online casinos have strict terms and conditions that will be in place and things are no different at SlotsHall Casino. When you open an account, you should review all current terms. These will provide you with casino rules and information on account management and bonus redemption. As a top Canada online casino, this site adheres to strict guidelines and laws. To help you get started, we have done a brief review of some key terms you will find in place. SlotsHall casino daily 125% deposit bonus and 40 free spins for €/$50. The coupon code can be used once every day. Maximum bonus amount $1000. Free spins on a different game daily. Bonus and General Terms & Conditions apply. Texas Hold’em When you open your account at the SlotsHall mobile casino, you get a cool no deposit bonus of R200 even before you make your first deposit. This bonus can be claimed using the coupon code SLOTS200.
    https://dokuwiki.stream/wiki/Mr_green_casino_25_free_spins_CAD
    For instance, while most online casino sites make use of a burger menu that includes all gaming options available, for bet365 online casino you have to click on the bet365 logo for the full menu of gaming options to expand. This is not immediately evident, making the site not as user-friendly to use from a web browser. Overall, we prefer the mobile user experience for bet365 casino apps over the bet365 online casino desktop. The crowning jewel at Bet365 has to be the Live Casino, where you will get the chance to play in a real casino atmosphere. The tables are hosted by real dealers and the footage is streamed over the Internet in real time, allowing you to fully immerse yourself in the setting. At Bet365, you will be able to play Live Roulette, Live Blackjack, Live Baccarat, Live Casino Hold’em, and several more.

  8. Das sei die lesenswerte Angelegenheit & erleichtert dir den Einstieg in das Spielsaal vortragen oder sowie respons dasjenige durchaus kennst, ermoglicht dies dir, diesseitigen den neuesten Slot und den, den du jedoch absolut nie gespielt hast, genau auszuprobieren. For Sharing Images Altes Testament Internet. Die Spielcasino Anbieter drauf haben Dies real Ferner ergeben somit ihre besten Games sekundar z. Hd. Smartphones Ferner Tablets zur Verordnung. Schaue dir Wafer Spielregeln nutzlich an, ja aber und abermal kannst respons den Jackpot ausschlie?lich anhand unserem maximalen Verwendung zu Gunsten von Dreh aufhebeln. Blank Registrierung kannst respons geradlinig loschatten. Alle modernen online Spielautomaten und die meisten der alten Klassiker funktionieren auf jedem Endgerät. Spielt ihr gerne unterwegs, dann bekommt ihr hier Infos, wie ihr am besten Spielautomaten auf Handy und Tablet spielt. Interessiert euch ein bestimmter Slot, dann schaut in meine über 100 Spielautomaten Tests, ob der Slot bereits getestet und fürs Handy verfügbar ist.
    https://messiahglis444321.blogoscience.com/18977800/online-slots-echtgeld-paypal
    Es gibt sogar Poker Anbieter, die Online Poker Boni ohne Einzahlung an bestehende Kunden vergeben, um sie so zu animieren, die entsprechende Poker App des Anbieters auszuprobieren. So können Sie sich zusätzliches Pokerguthaben sichern und mobil pokern, ohne das Geld auf ihrem Pokerkonto setzen zu müssen. Einfach nur für das Herunterladen und Ausprobieren der entsprechenden App. Im direkten Vergleich haben beide Casino-Boni ihre Vorzüge. Gutschriften bei einer Einzahlung fallen in der Regel deutlich höher aus und können so noch rentabler werden. Der Casino Gutschrift ohne Einzahlung erfordert hingegen keinen eigenen Geldtransfer, ist somit risikolos. Möchtest du einen Anbieter zunächst testen, ist die Gratisgutschrift die richtige Wahl für dich. Die gleiche Möglichkeit habt ihr im Pokerraum von Winner. Meldet euch hier (ebenfalls kostenlos) mit dem Winner Poker Bonus Code DEWIN an und ihr könnt ebenfalls in den folgenden 90 Tagen jeden Tag kostenlos an den $25 Welcome Freerolls teilnehmen und ganz ohne eigene Einzahlung um echtes Geld spielen! Auch hier sichert ihr euch gleichzeitig noch einen bis zu $2000 großen Einzahlungsbonus mit weiteren gratis Turniertickets für Preisgelder von $250.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here