इंदौर। करीब 5 वर्ष पहले तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के विशेष प्रयासों से पाकिस्तान से भारत लाई गई गीता के परिजनों की तलाश अब तक पूरी नही हुई है।

0
262

इंदौर।
करीब 5 वर्ष पहले तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के विशेष प्रयासों से पाकिस्तान से भारत लाई गई गीता के परिजनों की तलाश अब तक पूरी नही हुई है। इंदौर में रह रही गीता को अपना बताने के दावे तो कई बार कई दम्पत्तियों और परिवारों ने किए, लेकिन उसके असली परिजनों का पता आज तक नहीं चल पाया है। हालांकि, अब इंदौर पुलिस को सुराग मिले हैं कि गीता या तो तेलंगाना राज्य के उत्तरी हिस्से या फिर छत्तीसगढ़ के दक्षिणी हिस्से से ताल्लुक रखती है। लिहाजा, इंदौर पुलिस ने अब इस दिशा में पड़ताल शुरू कर दी है। खुद गीता ने हालिया काउंसलिंग में इस ओर इशारा किया है। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने यह जानकारी दी है।
लंबे समय बाद गीता के परिजनों की चर्चा इसलिए शुरू हुई है क्योंकि जुलाई माह की 20 तारीख को गीता ने अपना ठिकाना बदल लिया है। गीता पिछले पांच वर्षों से इंदौर के स्कीम नम्बर 71 स्थित मूक बधिर संगठन में रह रही थी लेकिन अब उसे इंदौर के विजय नगर स्थित आनंद सर्विस सोसाइटी में नया ठिकाना मिल गया है। गीता यहां खुश है और वो रूटीन एक्टिविटी के साथ ही हर पल कुछ नया सीखने का प्रयास भी कर रही है। गीता को सरहद के पार से हिंदुस्तान लौटाने में आनंद सर्विस सोसायटी का भी अहम योगदान रहा है।
गीता को उसके परिजनों तक पहुंचाने के लिए अब फ़िल्म, गीत संगीत और विशेष व्यंजनों का सहारा लिया जा रहा है। गीता मामले में जो नई थ्योरी सामने आई है, उसके अनुसार गीता या तो तेलंगाना या फिर छत्तीसगढ़ की निवासी हो सकती है। इंदौर के डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि गीता के परिजनों की तलाश तेलंगाना के उत्तरी इलाके और छत्तीसगढ़ के दक्षिणी इलाके में की जा रही है और इंदौर पुलिस सम्भावित स्थानों की पुलिस से संपर्क साध रही है।

भोपाल में ट्रिपल तलाक का हाई प्रोफाइल मामला, वॉट्सएप पर शौहर ने खत्म किया 19 साल का रिश्ता
हरिनारायणचारी मिश्र के मुताबिक गीता की काउंसलिंग के दौरान जो बातें सामने आई हैं, उससे उसके तेलंगाना या छत्तीसगढ़ के होने के संकेत मिले हैं। काउंसलिंग के बाद इंदौर पुलिस को गीता की संस्कृति, संगीत और खान पान के बारे में पता चला है। गीता ने तेलुगू मूवी को पहचाना है। खान-पान और रीति रिवाजों के मामलों में गीता के जवाब दक्षिणी छत्तीसगढ़ से लगे इलाके सुकमा और बस्तर जिले की ओर इशारा कर रहे हैं।

बता दें कि गीता का हाल ही में बैंक अकाउंट भी खुल गया है जिसे लेकर वो काफी खुश है। बीच में गीता ने शादी की इच्छा जताई थी, लेकिन बाद में इंकार कर दिया। लिहाजा,अब इंदौर पुलिस उसके परिजनों तक उसे पहुंचाने की कोशिश में एक बार फिर से जुट गई है।