उड़ीसा ⁄ भुवनेश्वर छात्रों को सर्वश्रेष्ठ प्लेसमेंट देने के साथ-साथ इस बी-स्कूल ने कोरोना काल में छात्रों को वित्तीय सहायता देकर जीता सबका दिल

0
57

भुवनेश्वर, बाल अधिकार सुरक्षा (Child Rights Protection) के लिए सरकारी नियमों का अनुपालन कराने का उत्तरदायित्व जिन अधिकारियों पर डाला जाता है वैसे ही लोग उन कानूनों की अनदेखी करते आ रहे हैं। ऐसा ही मामला राजधानी भुवनेश्वर स्थित नयापल्ली में सामने आया है, जहां चाइल्डलाइन हेल्प डेस्क (Child line Help desk) की शिकायत पर एक पूर्व आईएएस अधिकारी के घर से 12 साल की नाबालिग लड़की को बरामद किया गया है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गंजाम जिले की रहने वाली 12 साल की लड़की को पढ़ाने लिखाने का झांसा देकर गंजाम जिले के रहने वाले अधिकारी अपने घर लाए थे। घर में लड़की से घरेलू काम करवाने, प्रताड़ित करने की शिकायत चाइल्डलाइन को मिली जिसके बाद नयापल्ली थाना की ओर से संबंधित पूर्व आईएएस अधिकारी के आवास में नाबालिक बच्‍ची को वहां से बरामद किया।
मिली जानकारी के अनुसार नायापल्ली के इस पूर्व अधिकारी के पुत्र हैदराबाद में राष्ट्रीय कानून विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं एवं उनकी बहूू भुवनेश्वर में अंग्रेजी मीडियम स्कूल चला रही है। ऐसे उच्च शिक्षित पूर्व आइएएस अधिकारी के घर में नाबालिग बच्ची के शोषण मामला बहुत ही संगीन होने की बात है। चाइल्डलाइन के निदेशक बेणुधर सेनापति का कहना है कि यह अत्यंत ही गंभीर और शर्मसार करने वाला मामला है और हम इस पर कड़ी कार्रवाई की मांग करते हैं।