उत्तराखंड की राज्यधानी देहरादून में बेरोजगारी भुखमरी रोड के कगार पर खड़ी :

0
9
राज्यधानी देहरादून में बेरोजगारी भुखमरी रोड के कगार  पर  खड़ी आपको सामने नजर दिखाई देगी । घंटा घर पोस्ट ऑफिस के सामने और राजपुर रोड फोर प्वाइंट होटल के बगल में आप जाकर  देखे तो सुबह 7 बजे से लेकर दोपहर 12 बजे तक दिखाई देंगे ।  गरीब मजदूर रोड पर अधिक से अधिक संख्या में रोड पर खड़े सामने नजर आयेंगे । लोग अपने और अपने सम्पूर्ण परिवार के भरण- पोषण करने के लिए रोड पर रोज खड़े रहते है लोग इन्हें पूछते नही है काम के लिए बेचारे अपने हरदम टक टकी लगाए बैठे रहते है कि कोई हमे काम करने के लिए पूछे ताकि जाकर कुछ कमा कर एक वक्त की रोटी खा सके, हाय रे गरीबी रोड पर खड़ी जीवन को क्या से क्या बना देती है और न जाने किस मोड़ पर खड़ी कर देती है देश के नेता जो अपना अपना रोटी सेक रहे है उस रास्ते से आते है उनको तनिक एक झलक भी दिखाई नही देती है न उनके प्रति थोड़ा सा जू रेंगता है की उनके प्रति अपना हमदर्दी दिखा दे वह अपने हाव- भाव मे मस्त रहते है उनका जब चुनाव आता है तो अपने वोट के लिए सब दिखाई देते है अपने स्वार्थ के लिए उनके सामने जाकर अपने हाथ ,पाव पसारते है जब काम निकल जाता है तो अपना दर्शन भी नही दिखाते । वाह रे हमारे देश के नेता और हमारे देश के शासन- प्रशासन कैसे विकसित होगा देश कैसे चलेगा हमारा राज्य अमीर ,अमीर होता चला जा रहा है गरीब ,गरीब बनता चला जा रहा है हमारे देश के प्रधान मंत्री जी देश को विकसित करने में लगे हुए है उनके चहेते और अन्य नेता देश को उखाड़ फेंकने में लगे हुए है हमारे देश में ऐसे कोई पार्टीया अभी तक जन्म नही ली है जो इनके मसीहा बनकर सामने आए जो आये अपने स्वार्थ बस आये और उनको जमीन पर छोड़कर और उनको और भयंकर दैनिक स्थिति में डालकर  चले गए । आज तक उनका कोई खोज खबर लेता नही है चाहे कांग्रेस हो या भाजपा हो या अन्य दल के पार्टिया हो, सबके सब अपना रोटी सकते है गरीब ,मजदूरों को बहकावे में लाना और उनमें राज्य करना अभी तक इनकी यही नीति उभरकर सामने आई है इनकी भलाई के लिए आज तक कुछ भी नही सोचा है इसके साथ एक कहावत सटीक बैठता है अपना पेट भरता चूल्हे भाड़ में जनता । देश के शासन- प्रशासन एंव नेता सभी जनता के पीछे पड़े हुए है कब मिले इन्हें फाड़ खाये । याद रखे दोनो जनता से हमारा देश है न कि इन दोनों से है जनता को सम्मान दोगे जनता आपको सम्मान देगी।