उत्तराखंड की राज्यधानी देहरादून में 108 K.K.S. फील्ड कर्मचारी संघ का जोरदार धरना -प्रदर्शन :-  राज्यधानी देहरादून में परेड ग्राउंड के पास फील्ड कर्मचारी संघ का जोरदार धरना- प्रदर्शन का आज 47 वा दिन हुआ है । दोपहर की तप्ति हुई कड़ी धूप और रात की गर्म उमस की बेला में अपने धरना -प्रदर्शन को जारी रखा है ये धरना- प्रदर्शन तब तक चलेगा जब तक सरकार उनका कोई प्रतिउत्तर सरकार से नही नही मिल जाता ।

 कर्मचारियों की दो मांगे है राज्य सरकार से जो निम्नांकित है ।

1 – सरकार उनका नौकरी वापस कर दे जिस -जिस पद पर कार्यरत थे ।
2- कर्मचारियों को रोजी – रोटी दे जिसे वह अपने परिवार का भरण- पोषण कर सके ।
 108 एंव खुशियों की सवारी सेवा में पूर्व कार्य कर रहे फील्ड कर्मचारियों का वेतन भत्ता व लोकेशन सहित सरकार वहन करे ।
15 मई 2008 से 30 अप्रैल 2019 तक फील्ड कर्मचारियों ने एम्बुलेंस सेवा संचालन में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है सभी कर्मचारियों ने अपने विषम भौगोलिक परिस्थितियों में हर समय आपात स्थिति में स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर बनाये रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग को पूर्ण सहयोग दिया है परन्तु 30 अप्रैल 2019 को आपातकालीन सेवाओ का संचालन कर रही कम्पनी जीवीके इएमआरआई द्वारा उत्तराखंड सरकार के साथ अनुबंध समाप्त होने का हवाला देकर  717  फील्ड कर्मचारियों को संविदा समाप्ति के नोटिस जारी कर बेरोजगार कर दिया गया । सभी फिल्ड कर्मचारियों को रोजगार न होने के कारण आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा  है जिससे उनके परिवार का भरण- पोषण एंव अन्य आवश्यकताओ की पूर्ति करना असम्भव हो रही है ।अपने जीवन के कष्ट से जूझ रहे सभी फील्ड कर्मचारी राज्य सरकार से गुहार लगा रहे है परन्तु इतने समय गुजर गए सरकार के कान तक एक भी जू नही रेंगी ।कर्मचारियों को 11 वर्ष लगातार सेवा देने के उपरान्त अधिकांश फील्ड कर्मचारी सरकारी सेवाओं के आवेदन करने की तय उम्र सीमा पार कर चुके है जिससे सभी बेरोजगार हुए कर्मचारियों का भविष्य अधर में लटक गया है ।
सभी कर्मचारी राज्य सरकार से अनुरोध करते है कि वर्तमान समय मे जो भी संस्था राज्य में है 108 खुशियों की सवारी सेवा का संचालन उत्तराखंड राज्य में करे इन सभी 717 कर्मचारियों का अधर में लटका हुआ भविष्य को उस संस्था में उसी स्थान पर नियोजित किया जाए जिस स्थान में पूर्व में कार्यरत थे । उन्हें वही वेतन ,वही भत्ते व सुविधायें आज के वर्तमान समय को ध्यान में रखकर उनसे बढ़ के उपलब्ध करवायी जाय जो पूर्व में पहले थी । धरने पर उपस्थित प्रदेश सचिव -बिपिन चंद्र जमलोकी, प्रदेश उपाध्यक्ष एंव अन्य कर्मचारी गढ़ उपस्थित थे ।