उत्तराखण्ड:- पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड द्वारा पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से लिया राज्य रेलवे सुरक्षा व्यवस्था का जायजा

0
79

आज दिनांक 20 मार्च, 2021 को अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड की बैठक में विभिन्न सुरक्षा व प्रशासनिक बिन्दुओं पर विचार विर्मश किया गया , बैठक में वी मुरूगेशन, पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, श्री पी0 अंशुमान, पुलिस महानिरीक्षक, अभिसूचना एंव सुरक्षा, नीलेश आनन्द भरणे, पुलिस उपमानिरीक्षक अपराध एवं कानून व्यवस्था सहित रेलवे सुरक्षा बोर्ड उत्तर रेलवे, राजाजी टाईगर रिजर्व, आसूचना ब्यूरो के अधिकारियों द्वारा आनलाईन प्रतिभाग किया गया तथा निम्न महत्त्वपूर्ण निर्णय लिये गये
जीआरपी द्वारा राज्य के समस्त रेलवे स्टेशन में सीसीटीवी स्थापित किये जाएं एवं सभी को इन्टरकनेक्ट किया जाए।ऋषिकेश में जीआरपी थाना तथा कोटद्वार एवं टनकपुर में जीआरपी पुलिस चैकी खोले जाने का प्रयास किया जाएगा। 2021 मे 03 पत्थरबाजी की घटनाओ में संलिप्त व्यक्तियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है तथा केस कोर्ट में चल रहा है। ट्रेनों पर पत्थरबाजी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी जिस हेतु ऐसे स्थानों केा चिन्हीकृत कर वहां पर सीसीटीवी कैमरे स्थापित किये जाने का निर्णय लिया गया।
राज्य के समस्त रेलवे स्टेशनों पर एयरपोर्ट की भांति बैगेज स्कैनर स्थापित कर चैकिंग करने का प्रयास किया जाएगा।
राज्य में जीआरपी पुलिस लाईनस एवं कार्यालयों हेतु रेलवे विभाग द्वारा जमीन चिन्हित करने का निर्णय लिया गया।
जंगली जानवरों के रेलवे ट्रैकों पर आने की सम्भावना के दृष्टिगत ऐसे स्थानो को चिन्हित कर उन स्थानों में वन विभाग एवं राजाजी टाईगर रिजर्व द्वारा उनकी फेन्सिगं किये जाने के साथ-साथ अन्य उपाय किये जाने का भी निर्णय लिया गया।
रेलवे स्टेशनों, रेलवे ट्रेकों की सुरक्षा हेतु आरपीएफ, जीआरपी एवं स्थानीय पुलिस द्वारा रेलवे स्टेशनों में सयुंक्त रूप से प्रभावी चैकिंग के साथ-साथ पैदल व पुश ट्रॉली द्वारा रेलवे ट्रेकों का भी निरीक्षण किया जाये।
रेलवे दुर्घटना होने पर क्लेम लिए जाने हेतु नकली दुर्घटना दिखाने वाले गिरोह का पता लगाना एवं किसी भी तरह की रेलवे दुर्घटना होने पर एस0ओ0जी0 द्वारा उसकी जांच करने हेतु डीजीपी महोदय द्वारा निर्देशित किया गया।
समस्त रेलवे स्टेशनो पर पूर्व की भांति कोविड के सम्बन्ध में भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का भी सख्ती से पालन करने हेतु निदेर्शित किया गया।