उत्तराखण्ड

0
249

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर तहसील खटीमा में फादर कुन्दन के साथ धर्म के नाम पर रक्षक से भक्षक बना विलिवर्स चर्च संस्थाए : –

उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर तहसील खटीमा में विलिवर्स चर्च संस्था ने अपने ही धर्म गुरु कुन्दन सिंह राणा के साथ धर्म के नाम पर रक्षक से भक्षक उनको बना दिया ।

फादर कुन्दन सिंह राणा 21 मार्च 1999 से लेकर अब तक लगभग 20 -25 वर्ष की आयु में अपना बचपन से जवानी तक अपना सम्पूर्ण जीवन विलिवर्स ईस्टन चर्च के साथ लगा दिया आज उनके साथ धर्म के नाम पर धोखा धड़ी होती नजर आ रही है उनका सारा सब कुछ छीन लिया गया अब कुछ नही बचा है उन्होंने बचपन से जवानी तक जितना भी सामाजिक, शारीरिक और आत्मिक कर्यक्रमो में बढ़चढ़ करके भाग लिया और अपना सम्पूर्ण योगदान दिया अपनी जान की परवाह न करते हुए वफादारी और ईमानदारी के साथ सहयोग किया फिर भी उनका कही इज्जत, मान सम्मान नही है और उनके साथ सब धर्म गुरुओं ने एक साथ मिलकर बुरा व्यहार किया । पास्टर कुन्दन के सीधेपन का सब चर्च धर्मगुरुओ ने गलत फायदा उठा कर उन्हें समय – समय पर शारीरिक, मानसिक और आत्मिक रूप से उनको बहुत प्रताड़ित करता रहा ।
चर्च के नाम पर कलंक देश मे मचा लूट खसोट : –
1 सितम्बर 2019 से धर्म गुरुओं ने फादर कुन्दन को बिना बताये उनका महीने के सैलरी की धनराशि रोक दिया जिसे उनके परिवार का भरण – पोषण करने में काफी उनको कठिनाइयों का सामना करना पड़ा ।लाचार बेबसी पड़े फादर कुन्दन अपने परिवार का भरण- पोषण करने के लिए कुछ रुपये ऋण लिए।  1999-  2020 वर्षो तक अर्थात 20 वर्ष तक जो संस्थाओं ने पी0एफ0फण्ड काट रहा था उन्हें देने से इनकार कर दिया और उन्हें धर्म के नाम पर प्रताड़ित किया गया और उन्हें धमकी देकर कहा जा रहा था कि जो कुछ करना है कर लेना । ये सुनने में बहुत ही घिनौनी लगता है जब एक धर्मगुरु अपने मुख विचारो से ऐसे शब्द बोलते है । और फादर कुन्दन को बीच मझेदार मे छोड़कर विलिवर्स चर्च संस्थान ने अपना हाथ सिकोड़ कर मुह मोड़ लिया । प्रताड़ित किये हुए फादर अपने गम्भीर परेशानी में पड़ गए उनका कोई सुनने वाला नही है न ही परमेश्वर और न ही चर्च के धर्मगुरु इसके बाद वह प्रभु यीशु मसीह के विस्वास में तो बने रहे परन्तु चर्च की संस्थाओं से जुदा हो गए ।
फादर कुन्दन ने चर्च की धर्म गुरुओं से अपने हक की गुहार लगाई :- कई बार फादर कुन्दन राणा ने अपने हक की बात कही तो विलिवर्स चर्च के धर्मगुरुओ ने फादर कुन्दन व उनके सम्पूर्ण परिवार को शासनिक – प्रशासनिक कार्यवाही करने की धमकी दे डाली ।
प्राभु यीशु मसीह की आड़ के नाम पर धर्म गुरुओं ने अपनी- अपनी जीवितकोपार्जन का साधन बना लिया है अपने भाई के दुख और दर्द की इनको तनिक भी परवाह नही है न इनको परमेश्वर डर है एक तरफ फादर कुन्दन को शारिरिक, मानसिक और आत्मिक तौर पर ताड़ना दी जा रही है और दूसरी ओर एक दर्द भरी चुनौती दी जा रही है कि जो कुछ करना है तो कर लो हमे कोई फर्क नही पड़ता है ।
फादर कुन्दन राणा के द्वारा चर्च भवन का निर्माण किया गया : –  फादर कुन्दन के द्वारा कराए गए चर्च भवन का निमार्ण एक चट्टान की मिसाल बना है जो अभी भी देखने को मिल रहा है जो कि ग्राम -फुलैया खटीमा ऊधमसिंह नगर (उत्तराखंड) में आज भी  मौजूद है ।
विलिवर्स चर्च भवन का निर्माण फादर कुन्दन राणा के नाम पर है : – जिस स्थान पर चर्च भवन का निर्माण कराया गया है वह चर्च फादर के नाम पर है इस बात का प्रमाण दस्तावेज के साथ है चर्च भवन का निर्माण कराए गए जमीन और विजली कनेक्शन भी फादर के नाम पर है ।
संस्थान के धर्म गुरुओं की ओर से फादर कुन्दन को  डराया, धमकाया और उन्हें बहुत प्रताड़ित किया जा रहा है : –   फादर कुन्दन ने बताया कि 80% प्रतिशत रुपये/ पैसे मैंने दान मांग- मांगकर चर्च जमीन और चर्च भवन बनवाने में लगाया है । फिर भी चर्च के धर्म गुरु उस चर्च भवन को हथियाने में एक साथ जुटे हुये है । फादर अभी भी अपने शारिरिक और मानसिक तनाव से गुजर रहे है पहले परमेश्वर प्रभु यीशु मसीह से उसके बाद देश की न्यायालय से न्याय करने की गुहार लगाये है की इसका इंसाफ मुझे मिले ।
फादर कुन्दन अपने आशावादी भरे देश की न्यायालय से गुहार लगाई है :- फादर कुन्दन अपनी आशा भरी देश की न्यायालय सरकार से अपनी गुहार लगाई है कि उनका 20 – 25 वर्ष के लगभग पी0एफ0 फण्ड कटा हुआ संस्था मुझे वापस लौटा दे ताकि मैं अपने परिवार का पालन और भरण – पोषण कर सके।
धन्यवाद, आपका आशावादी फादर कुंदन सिंह राणा ग्राम -सैजना उधमसिंह नगर खटीमा ।

फादर कुन्दन सिंह राणा का दस्तावेज

Laxman Bharti- उत्तराखंड