उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में एक समाचार चैनल के पत्रकार रतन सिंह (42) की सोमवार रात पौने नौ बजे गोली मार कर हत्या कर दी गई

0
23

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में एक समाचार चैनल के पत्रकार रतन सिंह (42) की सोमवार रात पौने नौ बजे गोली मार कर हत्या कर दी गई। घटना के पीछे पट्टीदारी का विवाद बताया जा रहा है। दो साल पहले इनके भाई की भी हत्या हो चुकी है। इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। फेफना थानाध्यक्ष शशिमौलि पांडेय को निलंबित कर दिया गया है। फेफना थाना क्षेत्र के फेफना निवासी पत्रकार रतन सिंह का गांव में पुराना मकान है, जहां पट्टीदारों से विवाद है। रतन सिंह का नया मकान रसड़ा-फेफना मार्ग पर बना हुआ है। बताया जा रहा है कि सोमवार की शाम रतन सिंह अपने पुराने मकान पर गए थे, जहां  बदमाशों ने दौड़ा लिया। वहां से वह भागते भागते फेफना के प्रधान सीमा सिंह के घर में घुसे, लेकिन बदमाशों ने घर में घुसकर उनके सिर में गोली मार दी। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। रतन सिंह के दो पुत्र हैं। देर रात पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ की जा रही है। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ, अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार, सीओ सदर चंद्रकेश सिंह, फेफना थानाध्यक्ष शशिमौली पांडेय मौके पर पहुंच गए। उधर, अपर पुलिस महानिदेशक बृज भूषण ने बताया कि रतन सिंह की पट्टीदारी के विवाद में हत्या हुई है। आठ माह से विवाद चल रहा था। इस हत्या का पत्रकारिता से कोई संबंध नहीं है। मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।(UNA)