उत्तर- प्रदेश के विधानसभा नजदीकी चुनाव में राजनीतिक पार्टियों का घमासान सियासत:

0
67

उत्तर -प्रदेश में जैसे -जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे- वैसे राजनीतिक पार्टियां अपना रोटी सेक रही है ।
एंकर ने असदुद्दीन ओवैसी से पूछा योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादव में सबसे अच्छा कौन है तो उन्होंने अपनी आँखों मिचौली इशारा करते हुए कहा रजिया गुंडों में फस गयी है दोनों पर इशारा करते हुए विजेपी को आड़े हाथ लिया और कहा कि पाँच वर्ष के कार्यकाल में 31%मुसलमानों को शिक्षा देने के बजाय उनको एनकाउंटर में मारा गया। मुसलमानों के बच्चे यहा पढ़ लिख नहीं पा रहे है सबसे ज्यादा ड्राप आउट रेट मुसलमानों के बच्चों पर किया जा रहा है।
असदुद्दीन ओवैसी ने ऐलान किया है कि उत्तर- प्रदेश के विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी 100 उम्मीदवारो को टिकट देकर खड़ा करेगी। वह बीजेपी पर निशाना साधते हुए उनकी पार्टी को हराने का निर्णय लिया ।
जब असदुद्दीन ओवैसी अपनी पार्टी को उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में 100 उम्मीदवारों को खड़ा करेंगें तो अखिलेश सिंह यादव का क्या हाल होगा।
उत्तर प्रदेश में मुसलमानों के हितैषी कहे जाने वाली सपा पार्टी का क्या हाल होगा जब ओवैसी अपनी पार्टी से 100 उम्मीदवारो को खड़ा करेंगे। क्या सभी मुसलमान इनके पक्ष में अपने ओट करेंगे या अखिलेश यादव को अपना वोट करेंगे। मुसलमानों की हितैषी कहे जाने वाली सपा पार्टी का क्या हाल होगा। लग रहा है उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में घमासान सियासत होगा और अखिलेश सिंह यादव के पार्टी का खेल बिगड़ सकता है। यदि वह मुसलमानो को लुभाने में कामयाब रहे तो सियासत मिल सकती है यदि ऐसा नही हुआ तो खेल बिगड़ सकता है।