उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान का कोविड-19 प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार होगा

0
73

उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान का कोविड-19 प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार होगा. दिल्ली से उनके शव को सीधे हापुड़ के बृजघाट लाया जा रहा है. उनके शव को पीपीई किट में लेकर स्वास्थ्य कर्मी आएंगे. हापुड़ के बृजघाट पर दोपहर 3:00 बजे चेतन चौहान का अंतिम संस्कार किया जाएगा. चेतन चौहान को राजकीय सम्मान दिया जाएगा, लेकिन राजकीय सम्मान के लिए एक खास दूरी निश्चित रहेगी. अंतिम संस्कार में सिर्फ परिवार और नजदीकी लोग मौजूद रह सकते और सभी को एक निश्चित दूरी रखनी होगी. गौरतलब है कि कोरोना से जूझ रहे चेतन चौहान का कल मेदांता हॉस्पिटल में निधन हो गया था. चेतन चौहान ने कई उम्दा पारियां खेलीं, पर शतक नहीं बनाने का कभी मलाल नहीं रहा. चेतन चौहान 11 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनको संजय गांधी पीजीआई में एडमिट कराया गया था. इसके बाद किडनी और ब्लड प्रेशर की समस्या शुरू हो गई, जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. अमरोहा से चेतन चौहान दो बार भाजपा के सांसद भी रहे हैं. 1991 और 1998 के चुनाव में वह भाजपा के टिकट से अमरोहा से सांसद बने थे. चेतन चौहान अभी अमरोहा जिले की नौगांवा सादात विधानसभा के विधायक हैं. चौहान योगी आदित्यनाथ सरकार के दूसरे मंत्री हैं, जिन्होंने कोरोना संक्रमण के कारण दम तोड़ा है. इससे पहले दो अगस्त को प्रदेश सरकार की प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण ने संजय गंधी पीजीआई में दम तोड़ा था. नहीं रहे गावस्कर के ओपनिंग पार्टनर चेतन चौहान, शानदार थी सलामी बल्लेबाजी, चेतन चौहान ने टीम इंडिया के लिए 1969 से 1978 के बीच 40 टेस्ट खेले थे. इनमें उन्होंने 31.54 की एवरेज से 2084 रन बनाए. उनका बेस्ट स्कोर 97 रन रहा. चेतन ने 7 वनडे में 153 रन बनाए. चौहान और सुनील गावस्कर की ओपनिंग जोड़ी 1970 के दशक में काफी सफल रही थी. दोनों ने मिलकर 10 शतकीय साझेदारियां कीं और 3 हजार से ज्यादा रन बनाए.(UNA)