कश्मीर में मुख्यधारा राजनीति के शीर्ष नेताओं को नज़रबंद किया गया! दो पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्वीट में यह जानकारी दी! घाटी में कर्फ्यू या कर्फ्यू जैसी स्थिति! बड़े हिस्से में फोन और नेट सेवाएं भी बाधित!आम नागरिक जीवन ठप्प, माहौल खौफ़जदा.
इस वक्त देश की संसद का अधिवेशन चल रहा है पर उसे भी इन पंक्तियों के लिखे जाने तक कश्मीर में पैदा की जा रही इस अभूतपूर्व स्थिति के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया है!
आज जो कश्मीर में हो रहा है, वह कल पूरे भारत में भी हो सकता है!