कांग्रेस का दावा, बंगाल चुनाव के दौरान टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी की हुई जासूसी।

0
29

कोलकाता। पेगासस जासूसी मामले को लेकर विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार पर हमलावर है और लगातार कटघरे में खड़ा कर रही है। इस बीच, अब कांग्रेस ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की कथित जासूसी का दावा करते हुए इस मुद्दे पर केंद्र व भाजपा को लताड़ लगाई है। ममता के दिल्ली दौरे से ठीक पहले कांग्रेस ने रविवार को अपने आधिकारिक हैंडल से एक पोस्ट साझा किया जिसमें दावा किया कि टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी की मोदी सरकार ने बंगाल चुनाव के दौरान जासूसी करवाई। इस ट्वीट में कहा गया है कि अपने दुश्मन को करीब रखो वाली कहावत को मोदी सरकार ने ज्यादा ही गंभीरता से लिया है।
वहीं, अभिषेक को लेकर कांग्रेस के इस ट्वीट के बाद तृणमूल के राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है कि खेला होबे। तृणमूल पहले ही अपने नेता की जासूसी का दावा कर चुकी है। वहीं, कांग्रेस ने अभिषेक बनर्जी की तस्वीर के साथ एक ग्राफिक्स शेयर किया है, उसमें लिखा है- ”आप क्रोनोलॉजी को समझिए। पेगासस स्पाईवेयर का टारगेट कौन था? अभिषेक बनर्जी, ममता बनर्जी के भतीजे, कब? 2021 में। क्यों? बंगाल में चुनाव थे। मोदी सरकार का डर अंतहीन है।” गौरतलब है कि कांग्रेस का यह ट्वीट ऐसे समय में आया है, जब 26 जुलाई यानी सोमवार को ममता दिल्ली के दौरे पर जाने वाली हैं। ममता इस दौरे में विपक्ष के कई प्रमुख नेताओं से मुलाकात करने वाली हैं। इससे पहले हाल में ममता 2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सभी विपक्षी दलों से मोदी सरकार के खिलाफ एकजुट होने की भी अपील कर चुकी हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि कांग्रेस अब तृणमूल के करीब आती दिख रही है। पेगासस जासूसी का मुद्दा अभी गर्म है। एक रिपोर्ट में बड़ी संख्या में विपक्षी नेताओं सहित पत्रकारों व अन्य लोगों के फोन टैपिंग का दावा किया गया है।