कैमूर के गांधी पब्लिक स्कूल भभुआ छात्र छात्रों को पठान कार्यों में गौरव हासिल किया

0
139
कैमूर (ब्यूरो चीफ) भभुआ शहर में स्थित आवासीय गांधी पब्लिक स्कूल अपने आप में मिसाल के तौर पर शिक्षा के क्षेत्र में परचम लहरा कर प्राइवेट विद्यालयों में जिला में नंबर वन अभिभावकों के बीच प्राप्त कर चुका है इस विद्यालय में पठन-पाठन करने वाले छात्र छात्रा  नवोदय ,सिमुलतला, सैनिक, मिलिट्री, सी एच एस बनारसी,आदि स्कूल में  चयनित हो जाते हैं एक सवाल के जवाब में विद्यालय के निदेशक उमेश सिंह जिनकी योग्यता बी टेक एम एस सी  है इन्होंने बच्चों के पठन-पाठन एवं रहन सहन पर पूरी नजर रख बच्चों को  प्रारंभिक अवस्था से ही निष्ठा   के साथ प्रतिस्पर्धा के दृष्टिकोण से अध्ययन  कराते हैं
तो क्यों नहीं छात्र-छात्रा अपने जीवन में चरमोत्कर्ष पद को सुशोभित कर सकते हैं इस विद्यालय से प्रतिवर्ष मेघावी होकर छात्र-छात्रा निकलते हैं   2018 तक  सिमुलतला में चयनित छात्र-छात्राओं की संख्या 22 है ,2019 में सिमुताला में चयनित छात्र एक है,2018 तक विभिन्न नवोदय विद्यालयों में चयनित छात्र-छात्राओं की कुल संख्या 692है, 2018 सैनिक स्कूलों में चयनित छात्रों की कुल संख्या 417 है,2019 में सैनिक स्कूल में चयनित छात्रों की कुल संख्या 41है, 2018 तक मिलिट्री स्कूल में चयनित छात्रों की संख्या 27 है,2019 में मिलिट्री स्कूल में चयनित छात्रों की संख्या दो है,2018 तक सी एच एव वाराणसी में चयनित छात्र-छात्राओं की संख्या 136है जिसको लेकर भभुआ शहर में आवासीय गांधी पब्लिक स्कूल अपने आप में विख्यात हो चुका है जहां पर जिला के विभिन्न क्षेत्रों से अभिभावक अपने बच्चों को पठन-पाठन के लिए भेजते हैं विद्यालय के प्राचार्य माधुरी कुमारी ने एक सवाल के जवाब में कही कि  छात्र छात्राओं को मैं अपना पुत्र समान लग्न एवं ईमानदारी के साथ पठन-पाठन कार्यों को देखती हूं।
यही कारण है कि हमारे विद्यालय से मेघावी  होकर बच्चे बाहर जाते हैं इस विद्यालय के निदेशक उमेश कुमार एवं प्राचार्य माधुरी कुमारी को भभुआ के वरिष्ठ समाजसेवी बिरजू सिंह पटेल सहित कई बुद्धिजीवियों ने बधाई दिया है स्कूल में निदेशक स्वयं बच्चों को स्थिति की जायजा लेते हुए निदेशक से एक खास बातचीत  क्रम में कई जानकारियां भी प्राप्त हुआ