कैमूर जिला में जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय कक्ष में बड़े पैमाने पर शिक्षकों के साथ आर्थिक सामाजिक मानसिक रूप से शोषण बदसूरत जारी है।

3
213

कैमूर जिला में जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय कक्ष में बड़े पैमाने पर शिक्षकों के साथ आर्थिक सामाजिक मानसिक रूप से शोषण बदसूरत जारी है। शिक्षा विभाग में वरीय के जगह पर कनीय को अधिकारी बना दिया जाता है। कनीय को वरीय अधिकारी बना कर शिक्षकों का मानसिक, सामाजिक,आंथिंक रूप से शोषण किया जा रहा है। उसी प्रकार विद्यालय में कनीयों को वरीय के जगह पर पद सौंप दिया जाता है जिससे विद्यालयों में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है ।उसी प्रकार शिक्षा विभाग के कार्यालय में भी कनीय को वरीय बनाया जाता है । यह स्पष्ट संकेत देता है कि भ्रष्टाचार के आंकठा में जिला शिक्षा प्रशासन ने खुलम -खुला सरकार ‌के आदेश को ठेंगा दिखा रहे हैं।भगवानपुर में कार्यरत वरीय शिक्षक सुदामा दुबे को वरीयताता के आधार पर भी कनीय बनाया जा रहा था । जिसका उन्होंने जमकर विरोध किया, तो भगवानपुर प्रखंड शिक्षा अधिकारी ने उन्हें पद मुक्त कर दिया। शिक्षकों पर हो रहे हैं जुल्म अत्याचार के खिलाफ कैमूर जिला इकाई गोप गुट के अध्यक्ष अब्दुल मनन शाह के नेतृत्व में स्थानीय विधायक भरत प्रसाद बिंद एवं कैमूर जिला अधिकारी डॉ नवल किशोर चौधरी को ज्ञापन सौंपा था। गोप गुट के अध्यक्ष श्री मनान द्वारा दिए गए ज्ञापन को जिलाधिकारी के नाम पर उनका ज्ञापन को कूड़ेदान में फेंक दिया गया और जिलाधिकारी का भी ट्रांसफर हो गया ।जिससे शिक्षक संघ में गर्माहट आ गई है बाध्य होकर शिक्षा विभाग के खिलाफ बड़े पैमाने पर उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी है।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here