कैमूर पुलिस ने कुख्यात नक्सली एरिया कमांडर को किया झारखंड के जंगलों से गिरफ्तार

0
19
कैमूर (यू एन ए ब्यूरो चीफ) रामनारायण जी का रिपोर्ट कैमूर से
 एस पी कैमूर दिलनवाज अहमद  के प्रयासों ने रंग दिखाना प्रारंभ कर दिया है जिसके तहत 18 वर्ष से फरार चल रहे नक्सली एरिया कमांडर भरत सिंह खरवार उर्फ राजा जी पिता धुंधा सिंह खरवार ग्राम रेपुरा थाना भवनाथपुर जिला गढ़वा (झारखंड )जगरनाथ यादव पिता बासुदेव यादव उर्फ देव मुनि यादव ग्राम सेमरी थाना बरडीहा मक्षीयाव जिला गढ़वा (झारखंड )से कैमूर पुलिस टीम गठित कर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है
आरोपी उग्रवादी संगठन पीडब्ल्यूडी के एरिया कमांडर हैं जो 18 वर्ष पहले अधौरा भभुआ पथ पर पुलिस की गाड़ी उड़ा कई पुलिसकर्मियों के हत्या कर हथियार लूटने की घटना में शामिल थे
घटना अधौरा भभुआ पथ के मुसहरवा बाबा के समीप बारूदी सुरंग विस्फोट कर उड़ाये जाने से हवलदार एवं दो सिपाही की मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी एवं अन्य सिपाहियों  गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे
घटना में पुलिस को  13  राइफल 4 बैनेट  एवं गोली आदि लूटने के आरोपी कांड में शामिल हैं इनके ऊपर अधौरा थाना में 25 / ‌1/26,12 ,2001 को प्राथमिकी भी दर्ज की गई है पुलिस अधीक्षक दिलनवाज अहमद ने कहा कि इनकी गिरफ्तारी के लिए एक टीम बनाकर गढ़वा जिला भेजा गया था अपर पुलिस अधीक्षक अभियान राजीव रंजन सिंह  एवं पुलिस निरीक्षक थाना अध्यक्ष अधौरा कुमार धर्मेंद्र सिंह के नेतृत्व में भरत सिंह खरवार उर्फ राजा जी , एवं जगरनाथ यादव को गढ़वा जिला के जंगलों में रहने की सूचना के आधार पर जाल बिछाकर गिरफ्तार किया गया
इस कांड में पिछले 18 वर्षों से फरार चल रहे थे जो माननीय मुख्य न्यायाधीश दंडाधिकारी भभुआ के न्यायालय द्वारा वर्ष 2004 में वारंट भी निर्गत है इन्होंने अपनी  बयान में घटना में संलिप्त शिकार करते हुए बताया कि भवनाथपुर थाना में 2002 में गिरफ्तार हुए थे जिसमें इस घटना में लूटी गई  एक  राइफल इनके पास से पुलिस ने जपत की थी  वह राइफल कैमूर जिला के पुलिस से लूटी हुई थी
भरत सिंह खरवार के बारे में बताया जाता है कि एरिया कमांडर थे उन्होंने बताया कि उक्त कांड के अलावे तीन कांड गढ़वा जिले में मेरे ऊपर दज हैं जिसका  कैमूर पुलिस पता लगा रही है  कैमूर पुलिस का कहना है कि नक्सलियों के ऊपर झारखंड पुलिस द्वारा पोटा एक्ट भी लगा था