कैमूर शिक्षा विभाग में मनमानी पद बंटवारा को लेकर मचा धमासान-वरीय को कनीय बनाया

0
89

बिहार के कैमूर जिले में शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है इस पर अंकुश लगाने में जुटी जिला प्रशासन नाकाम साबित हो गई है। शिक्षा विभाग के कार्यालय कक्ष में वरीय के जगह पर कनीय लोगों को लाभ पद पर बैठा कर लूट कि योजना में लगा दिया गया है। बिहार सरकार ‌के प्रधान सचिव आरके महाजन ने प्रंत्राक संख्या-2/एम10-18/14, 3119 दिनांक 27-08-2014 को सभी जिला शिक्षा अधिकारी को दिनाक 30-4-2013 प्रंत्राक 2958 के आलोक में हवाला देकर कहा हैं कि कैमूर जिले में स्थापना, सर्व शिक्षा अभियान तथा लेखा एवं भोजन का प्रभार वरीय को देना है। लेकिन कैमूर के जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कनीय दया शंकर सिंह को स्थापना पद पर सुशोभित किया गया है जबकि वरीय यदुवंश राम को मध्यान भोजनालय,विजय राम को लेखा पद पर बैठा दिया गया है जो सरासर बैमानी का बू आ रहा है। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि कैमूर जिला पदाधिकारी ने शिक्षा विभाग में मनमानी रुप से हतक्षेप कर वरिष्ठ को वरीयता न देकर कनीय को लाभ कि पद पर बैठा दिया है। हम लोग केवल आदेशानुसार पालन कर्ता है। शिक्षा वीद बताते हैं कि हम लोगों को लाभ देकर काम करन पड़ता है। कैमूर शिक्षक संघ गोप गुट सचिव अवदुल मनान शाह ने जिला पदाधिकारी को मनमानी पद बंटवारा को लेकर सरकार द्वारा समय-समय पर गाईड-लाईन वह उनके ऊपर जांच कराने का मांग मुख्यमंत्री, प्रधान सचिव, शिक्षा मंत्री से किया है।