कैमूर

0
84

मई को होने वाले लोकसभा चुनाव में 13 प्रत्याशी मैदान में डटे हैं। नामांकन पत्रों की संवीक्षा व नाम वापसी की प्रक्रिया संपन्न होने के बाद जिला निर्वाची पदाधिकारी डॉ. नवल किशोर चौधरी ने प्रेसवार्ता में प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की। निर्वाची पदाधिकारी ने बताया कि नामांकन के अंतिम दिन तक 15 अभ्यार्थियों ने नामजदगी का पर्चा दाखिल किया था। संवीक्षा के दौरान दो अभ्यार्थियों राष्ट्र समानता दल के भज्जु राम व राष्ट्रीय समता पार्टी सेक्यूलर के संजीव कुमार का नामांकन दस्तावेजों में विभिन्न त्रुटि के कारण रद्द हो गया। अब 13 अभ्यार्थी बचे मैदान में डटे है।

डीएम ने बताया कि सभी प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह आवंटित कर दिया गया है। भाजपा के छेदी पासवान को कमल, कांग्रेस के मीरा कुमार को हाथ, बसपा के मनोज राम को हाथी, आंबेडकर राइड पार्टी ऑफ इंडिया से सत्यनारायण राम को कोट, अखिल भारतीय अपना दल से सत्यनारायण पासवान को कैची, जय जनता पार्टी से रजनीकांत चौधरी को ब्रीफकेस, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से निर्मला देवी को चाबी, लोक जन विकास पार्टी से धर्मराज पासवान को केक, सीपीआई एमएल से अशोक बैठा को बेबी वाकर, बहुजन मुक्ति पार्टी से विद्या त्योति को कैन, शोषित समाज दल से रघुनीराम शास्त्री को एयरकंडीश्नर तथा निर्दलीय रामएकबाल राम को बल्ला व अशोक कुमार पासवान को चिमनी प्रतिक चिन्ह आवंटित किया गया है।

प्रेक्षक ने प्रत्याशियों के साथ की बैठक

भभुआ। सामान्य प्रेक्षक संजय कुमार ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट स्थित जिला निर्वाची पदाधिकारी के कार्यालय के सभागार में विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों, प्रत्याशी व निर्दलीय प्रत्याशियों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान उन्होंने प्रत्याशियों को भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी गाइड लाइन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आयोग के निर्देश का पालन करते हुए प्रचार-प्रसार करें। निर्वाची पदाधिकारी ने भी प्रत्याशियों को आयोग के निर्देश का पालन करने को कहा। उन्होंने कहा कि चुनाव कार्य में खर्च होने वाली राशि का ब्योरा नामांकन के दौरान दिए गए रजिस्टर में दर्ज करें। चुनाव संपन्न होने के बाद व्यय कोषांग में खर्च का हिसाब देना होगा।

चुनाव की तैयारी की भी की समीक्षा

भभुआ। सामान्य प्रेक्षक संजय कुमार ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट में विभिन्न कोषांगों के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर लोकसभा चुनाव के लिए अबतक की गई तैयारी की समीक्षा की। उन्होंने परिवहन, व्यय, कार्मिक, पोस्टल बैलेट, पेपरशील, इवीएम एवं अन्य कोषांगों के कार्यों की समीक्षा करते हुए पदाधिकारियों ने शेष कार्यों के निष्पादन में तेजी लाने को कहा। सामान्य प्रेक्षक ने चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों का बैलेट पेपर की प्रिंटिंग कराने व इवीएम सिलिंग के कार्य में तेजी लाने को कहा। इसके अलावा भी उन्होंने विभिन्न बिंदुओं पर विचार-विर्मश किया।