स्मार्ट सिटी के कार्यो की समीक्षा बैठक

स्मार्ट सिटी के कार्यो में समयावधि तय की जाये-जिला कलक्टर 

कोटा । जिला कलक्टर मुक्तानन्द अग्रवाल ने कहा कि स्मार्ट सिटी के तहत प्रस्तावित कार्य धरातल पर मूर्तरूप ले इसके लिए समयावधि तय करते हुए जनहित के कार्यो की प्राथमिकता तय करें। उन्होंने शहर की यातायात व्यवस्था के लिए विशेष प्लान तैयार कर पार्किंग के लिए स्थान चिन्हित करने एवं नाला विकास कार्यों के लिए सर्वे करने के निर्देश दिये।

जिला कलक्टर कलक्ट्रेट सभाकक्ष में स्मार्ट सिटी के कार्यो की समीक्षा करते हुए उपस्थित अधिकारियों को सम्बाधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी परियोजना के कार्य निर्धारित समयावधि में पूरे किये जाये तभी जाकर धरातल पर विकास कार्य दिखाई देगें। इसके लिए मॉनिटरिंग करने वाले अधिकारी एवं कार्यकारी ऐजेंसी आपसी समन्यवय से कार्य करते हुए कार्यों की प्रगति में आने वाली समस्याओं का समय पर निराकरण करें। उन्होंने अब तक प्रस्तावित किये गये विकास कार्यो की विस्तृत मॉनिटरिंग की तथा पीएमसी के अधिकारियों को भविष्य में प्रस्तावित कार्यो की सर्वे के साथ पूर्ण रिर्पोट करने के निर्देश दिये।

जिला कलक्टर ने पर्यटन विकास की दृष्टि से महत्वपूर्ण विकास कार्यो, डेजर्ट पार्क में प्रस्तावित मशाला चौक निर्माण, ऑक्सीजोन पार्क, किशोर सागर में प्रस्तावित पर्यटन विकास के कार्यो की प्रगति की समीक्षा कर गति प्रदान करने के निर्देश दिये। उन्हांेने कचरा निस्तारण का विस्तृत प्लान बनाने, फायर स्टेशन के आवश्यक उपकरण क्रय करने एवं आरयूआईडीपी एवं पेयजल योजना के प्रोजेक्ट की प्रगति की भी समीक्षा की। उन्हांेने कहा कि कोटरी तालाब के विकास व आमजन को शहर के प्रमुख स्थानों पर शौचालय एवं मूलभूत सुविधाओं के विकास के लिए भी नये शिरे से तैयारी करेे। उन्होंने शैक्षणिक संस्थानों व बस स्टेण्ड पर सेनेट्री नेपकिन मशीन लगाने, स्मार्ट क्लासेज व पुस्तकालय सुविधाओं की भी समीक्षा की।

पार्किग प्लान के लिए समिति का गठन-

जिला कलक्टर ने स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत पार्किग विकसित करने के लिए यातायात दबाव के अनुसार स्थानों का चयन करने लिए समिति का गठन किया। समिति में अतिरिक्त प्रादेशिक परिवहन अधिकारी, उपायुक्त नगर निगम, उपसचिव नगर विकास न्यास, उपाधीक्षक यातायात पुलिस, स्मार्ट सिटी परियोजना के अधिशाषी अभियंता एवं पीएमसी प्रतिनिधी को शामिल कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

नाला विकास का बनेगा प्लान-

बैठक में शहर के पुमुख नालों के विकास के लिए सर्वे कर पीएमसी को विस्तृत रिपोर्ट बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने डायवर्जन चैनल से लेकर शहर के प्रमुख नालों के सौंदर्यकरण, ट्रीटमेंट प्लान लेंड डवलपमेंट प्लान तैयार करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर आयुक्त नगर निगम जुगलकिशोर मीणा, सचिव नगर विकास न्यास आनन्दी लाल वैष्णव, मुख्य अभियंता एसके गर्ग, वित्तीय सलाहकार विधि शर्मा, अधिशाषी अभियंता एनके शर्मा, केएम शर्मा, अधीक्षण अभियंता जलदाय अनिल कछावा सहित पीएमसी के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।