जेईई.एडवांस्ड प्रवेश परीक्षा के आवेदन शुल्क पर जीएसटी अविलम्ब हटवाने की माॅग

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित जेईई-मेन,2019 प्रवेश परीक्षा जनवरी एवं अप्रैल दो चरणों में सम्पन्न होगी। इसके रिजल्ट में शीर्ष रैंक से चयनित 2,24,000 परीक्षार्थी 19 मई को कम्प्यूटर बेस्ड जेईई-एडवांस्ड परीक्षा देंगे। जिसके लिये आयोजक संस्थान आईआईटी, रूडकी द्वारा आॅनलाइन आवेदन प्रक्रिया अप्रैल,2019 के अंतिम सप्ताह तक प्रारंभ कर दी जाएगी। इस सप्ताह आईआईटी, रूडकी ने जेईई-एडवांस्ड,2019 परीक्षा की वेबसाइट पर पोस्टर जारी किया है, जिसमें 2.24 लाख परीक्षार्थियों को आवेदन शुल्क की जानकारी दी गई। इसके अनुसार, सामान्य एवं ओबीसी वर्ग के अभ्यार्थियों को 2600 रू., एससी, एसटी, दिव्यांग एवं लडकियों को 1300 रू. फीस के अतिरिक्त केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित दर से जीएसटी भी जमा करवाना होगा। हम आप से देशभर के उच्च शिक्षा के लिये अध्ययनरत लाखों विद्यार्थियों के हित में आपसे मांग करते है कि कम्प्यूटर बेस्ड प्रवेश परीक्षाओं के आवेदन शुल्क में जीएसटी को पूरी तरह समाप्त किया जाये। आपको याद दिला दें कि जेईई-एडवांस्ड,2019 के 2,24,000 परीक्षार्थी लगभग 45 करोड़ रूपये परीक्षा आवेदन शुल्क के रूप में जमा करवायेंगे, उसके बावजूद ऐसे होनहार विद्यार्थियों पर 9 करोड़ रूपये से अधिक राशि का जीएसटी भार थोपना सरासर गलत है। वर्ष 2018 से जेईई-मेन एवं जेईई-एडवांस्ड पूरी तरह कम्प्यूटर आधारित कर दी गई हैं, ऐसे में इनका परीक्षा शुल्क भी इस वर्ष 50 प्रतिशत कम किया जाए। क्यांेकि अब पेपर और काॅपियों पर होने वाले पिं्रटिंग व स्टेशनरी खर्च व मेनपावर के परीक्षा खर्च में काफी कटौती हुई है।

हम आप से मांग करते है कि एम.एच.आर.डी मंत्रालय लाखों विद्यार्थियों एवं अभिभावकों से जेईई-मेन, जेईई-एडवांस्ड, नीट आदि प्रवेश परीक्षाओं के लिये आवेदन शुल्क एवं जी.एस.टी के नाम पर करोड़ों रूपये की वसूली को अविलम्ब प्रभाव से न्यूनतम करने का निर्णय ले। अन्यथा विद्यार्थियों के हित में राष्ट्रव्यापी जनांदोलन किया जाएगा।

पटवारी व कानूनगो संघ का क्रमिक अनशन

कोटा । संभागीय आयुक्त कार्यालय के बाहर कोटा व झालावाड़ के पटवारी व कानूनगो संघ का चल रहा है क्रमिक अनशन खानपुर थाना प्रभारी पद से से हटाये गये महेंद्र मारु के निलंबन की कर रहे है माग जयपुर मे मागो को लेकर सरकार के साथ चल रही है वार्ता

मागे नही मानने पर कल मंगलवार को कोटा व बारा के पटवारी रहेगे क्रमिक अनशन पर

एमबीएस से फरार अभियुक्त गिरफ्तार

कोटा – पुलिस अधीक्षक कोटा शहर श्री दीपक भार्गव ने बताया कि एमबीएस कोटा में विचाराधीन बंदी अनीष पुत्र महावीर बैरवा उम्र 20 वर्ष निवासी मकान नंबर 635 लोहार बस्ती बोंबई योजना जेके के सामने थाना उद्योग नगर कोटा जो कि केंद्रीय कारागार कोटा में नयापुरा थाने के आर्म्स एक्ट के प्रकरण में न्यायिक अभिरक्षा में चल रहा था जिसका स्वास्थ्य खराब होने पर एमबीएस कोटा में इलाज हेतु भर्ती कराया था जो आज सुबह गार्ड को चकमा देकर भाग गया जिसकी तलाश हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोटा शहर राजेश कुमार मील ने निर्देशित किया था थाना उद्योग नगर क्षेत्र में विजय शंकर शर्मा थानाधिकारी के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी टीम के कॉन्स्टेबल सत्येंद्र विजय सिंह व कैलाश ने सूत्र सूचना के आधार पर मुलजिम अनीष पुत्र महावीर बैरवा को सूरसागर से पकड़ कर  नयापुरा थाने के  सुपुर्द किया गया जिसे गिरफ्तार किया गया

साईकिल रेली द्वारा शहीदों को दी श्रद्धाजंलि

झालावाड़ । पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ के वीर जवानों को श्रद्धाजंलि देने के लिए साइक्लिंग वेल्फेयर सोसाइटी के सौजन्य से युवाओ एवं सामाजिक संगठनो के सहयोग से मिनी सचिवालय से शहीद निर्भय सिंह की मूर्ति पर पुष्पाजंलि अर्पित करने के पश्चात् मंगलपुरा, गढ भवन, बड़ा बाजार, मोटर गैराज, मुण्डेरी से मण्डावर तक होते हुए पुनः मुण्डेरी तक साईकिल रैली का आयोजन किया गया। साईकिल रैली का समापन मुण्डेरी पर किया गया।

आरयूआईडीपी के परियोजना निदेशक डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी, सहायक निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क हेमन्त सिंह, सीडब्ल्यूएस के अध्यक्ष कुलदीप अरोडा, सचिव उदयभान सिंह, उपाध्यक्ष मनोज शर्मा, प्रभु ऐरवाल, डॉ. अनन्त शर्मा, विक्रम टाक, रोबिन सिंह, रामनिवास, हुसैन, जॉनसन टी सेन, कृपा शंकर शर्मा, ऋषभ कोठारी, राहुल मित्तल, मुकेश जैन, संदीप गुप्ता, पुरषोत्तम योगी, दिनेश पोरवाल, उज्ज्वला कानोड़े, सुमन्त शर्मा सहित नागौर से दीपाराम सौलन्की तथा कन्हैयालाल सांखला एवं सोसायटी के अन्य सदस्यों ने भाग लिया। इस दौरान डॉ. सोनी द्वारा सभी प्रतिभागियों को मैडल पहनाकर सम्मानित किया गया। वही इस दौरान स्काउट रामनिवास द्वारा तैयार भारतीय सिक्कों की फाईल का विमोचन भी किया गया।

पुलिस गोलीकांड में शहीद हुए मज़दूर साथियों द्वारा श्रंद्धाजलि अर्पित की

कोटा  जे. के. इंडस्ट्रीज कोटा में सन 1971 के मज़दूर आंदोलन में पुलिस गोलीकांड में शहीद हुए मज़दूर साथियों भारतीय ट्रेड यूनियन केंद्र ( सीटू ) द्वारा श्रंद्धाजलि अर्पित की गयी !

इस अवसर पर जे । के । कारखाने के सामने स्थित शहीद स्मारक पर सैकड़ों श्रमिकों ने शहीदों को पुष्पांजलि देते हुए श्रंद्धाजलि समारोह का आयोजन किया ! इस आंदोलन में श्रमिकों ने ब्रिटिश सरकार के समय से चले आ रहे अधिकतम बोनस सीमा 20% को ख़त्म करने की मांग की थी , श्रमिकों का कहना था कि जब मालिकों के मुनाफे पर कोई पाबन्दी नही है तो बोनस की सीमा क्यों ,राज्य की  तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा करवाये गए गोली कांड में  नोलखचंद , मदन लाल । दौलतराम , रामनारायण , मानक , घनश्याम , लालचंद , लालाराम सहित 8 मज़दूर शहीद हुए थे ! अंततः मज़दूर वर्ग की जीत हुई और जे । के । उद्योग के श्रमिकों ने देश में 20% बोनस की सीमा को तोड़ने का इतिहास रचा !

श्रंद्धाजलि समारोह में सभा को मुख्य अतिथि के रूप में सीटू यूनियन के राज्य सचिव मेहर सिंह, सर्वोदय मंडल के अरविन्द भरद्वाज एडवोकेट श्रमिक नेता नरेंद्र सिंह खींची, हबीब खान,कालीचरण, राजस्थान एटॉमिक पावर यूनियन के विकास चौहान, जनवादी महिला समिति की पुष्पा खींची और माकपा के जिला सचिव का दुलीचंद बोरदा,सीटू के जिला महामंत्री उमाशंकर ने सम्बोधित किया ! वक्ताओं ने  कहा   कि त्रिस्तरीय समझोते के तहत उद्योगों को चालू करने एवं बकाया भुगतान करने के लिए अराफ़ात समूह को लैंड लीज़ डीड की गयी थी अब जबकि अराफ़ात समूह शर्तों के पालन में विफल रहा है तो राज्य सरकार को तुरंत प्रभाव से स्थानांतरण निरस्त कर श्रमिकों के बकाया भुगतान कि व्यवस्था करायी जानी चाहिए ! सज़िशाना तरीके से स्वामित्व बदलकर नए स्वामी इन उधोगों की अरबों की भूमि को हड़पने के जुगाड़ में लगे हुए हैं ! माकपा के जिला सचिव का ।  दुलीचंद ने कहा कि मौजदा सरकार जनता के पैसे से खड़े किये गए उद्यमों को निजी सेठों के हाथों में सौंप रही है तथा उनके हितों में श्रमिक कानूनो में संशोधन कर रही है ऐसी स्थिति में मेहनतकश तबके को अपना संघर्ष और तेज़ करना होगा