कोटा

0
77

भयानक था मंजर, देखने वालों के रोंगटे खड़े हो गए

कार में फंसे घायलों को ग्रामीणों व पुलिस ने निकाल अस्पताल पहुंचाया

कोटा । जयपुर- जबलपुर नेशनल हाईवे पर कोटा से झालावाड़ के बीच नए बन रहे फोरलेन का काम अभी कही-कही पर अधूरा है इसी के बीच केबलनगर के फ्लाईओवर पर हुई भीषण दुर्घटना ने केरियर पाइंट यूनिवर्सिटी के दो शिक्षकों की बलि ले ली। केरियर पाइंट यूनिवर्सिटी का केम्पस इसी मार्ग पर स्थित है जहां ये शिक्षक प्रतिदिन अध्यापन के लिए जाते थे।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दुर्घटना इतनी भंयकर थी कि देखने वालों के रोंगटे खड़े हो गए। हादसे के बाद मौके पर ग्रामीणों व राहगीरों की भारी भीड़ एकत्र हो गई। जिसने भी यह भीषण हादसा देखा। सहम गया, कई देखने वाले लोगों को चक्कर आ गए।

हादसे के बाद कार पूरी तरह से चकनाचूर हो गई थी। कार में सवार दो शिक्षकों अजरूद्दीन व आशीष की तो मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि कार में सवार शिक्षक आदिल व ललित गंभीर रूप से घायल हो गए थे। हादसे के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई थी। ग्रामीणों ने कार में सवार घायलों व शवों को काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला। हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, जिसने घायल शिक्षकों आदिल व ललित को उपचार के लिए तलवण्डी स्थित मैत्री अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया। जहां दोनों की हालत गंभीर बनी हुई है। दोनों मृतकों के शवों को पुलिस ने एमबीएस अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया। जहां पोस्टमार्टम करवा कर शवों को परिजनों को सांैप दिया गया। मृतकों के परिजनों की रिपोर्ट पर पुलिस ने ट्रक चालक के खिलाफ गफलत व लापरवाही से वाहन चलाकर दुर्घटना कारित करने का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने मौके से ट्रक को जप्त कर लिया है।

हाइवे पर जाम लगा, क्रेन सेे हटाया ट्रक

हादसे के बाद हाइवे पर दोनों तरफ वाहनों की कतारें लग गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पहले तो हादसे वाली साइड में ट्रैक्टर को आड़ा खड़ाकर वाहनों को नीचे सर्विस रोड से होकर पास किया। बाद में ट्रक को क्रेन की मदद से हटवाया जिसके बाद सड़क के दोनों तरफ यातायात सुचारू हो सका।

कोचिंग संस्थान में शोक की लहर

इधर हादसे की सूचना मिलने पर कोटा व अलनिया स्थित कॅरियर पाइन्ट यूनिवर्सिटी में शिक्षकों व छात्रों में शोक की लहर दौड़ गई। कई छात्र व शिक्षक रो पड़े। हादसे की सूचना मिलने पर कई शिक्षक तुरन्त वाहनों से मौके पर पहुंचे। उन्होंने कार में फंसे शवों व घायलों को बाहर निकालने में मदद की। मृतक व घायल पांच वर्ष से कॅरियर पाइन्ट यूनिवर्सिटी में पढ़ा रहे थे। हादसे की सूचना मिलने पर छात्र व शिक्षक घायलों की कुशलक्षेम पूछने के लिए अस्पताल भी पहुंचे।