कोटा

0
46

कालीसिंध की पुलिया पर निजी बस डिवाइडर से टकराई

कोटा । क्षेत्र में पलायथा के पास कालीसिंध नदी की पुलिया पर सवारियों से भरी निजी बस के पट्टे टूट जाने के कारण बस असन्तुलित होकर डिवाइडर से टकरा गई। ड्राइवर की सूझबूझ व पुलिया पर सेफ्टीवाल होने के कारण बस नदी में गिरने से बाल-बाल बच गई। अगर सेफ्टीवाल नहीं होती तो बड़ा हादसा हो सकता था। हादसे में बस में सवार चाचा-भतीजी गंभीर घायल हो गए, जिन्हें कोटा रैफर कर दिया गया।

कोटा से अंता के बीच चलने वाली निजी बस सवारियों को लेकर अंता आ रही थी। इस दौरान पलायथा कालीसिंध पुलिया के बीचों बीच बस के पट्टे अचानक टूट गए, जिससे बस असन्तुलित होकर डिवाइडर से जा टकराई। ऐसे में सवारियों में हाहाकार मच गया, लेकिन ड्राइवर की सूझबूझ से बड़ा हादसा होने से टल गया। इस दौरान बस में सवार चाचा-भतीजी घायल हो गए, जिन्हें अंता अस्पताल लाया गया, जहाँ से प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को डॉक्टरों ने कोटा रैफर कर दिया।

अपहृत किशोर जंगल से दस्तयाब, आरोपी फरार

अपहरण कर फिरौती मांगने का मामला

पिड़ावा। ग्राम मेहतपुर निवासी एक किशोर का अपहरण कर फिरोती मांगने के मामले में आखिर पुलिस ने अपहृत किशोर को डग थाना क्षेत्र के बर्डिया के जंगल से दस्तयाब किया। लेकिन चारों अपहर्ता पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ सके।

सीआई राम किशन मेघवंशी ने बताया कि किशोर के मामले में चार आरोपियों के खिलाफ  अपहरण का मामला दर्ज था। किशोर को दस्तयाब कर लिया गया है, लेकिन चारों अपहरणकर्ता अभी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आए। ग़ौरतलब है कि 15 अप्रेल को दिनदहाडे अपहरण के बाद से किशोर  के परिजन मामला दर्ज करवाने को लेकर मध्य प्रदेश के सुसनेर और राजस्थान के पिड़ावा थाने के चक्कर लगा रहे थे। मिडिया द्वारा मामला उजागर करने के बाद पिड़ावा थाने में चार लोगो के विरुद्ध अपहरण का प्रकरण दर्ज कर लिया गया था।

सीआई रामकिशन मेघवंशी ने बताया कि सुसनेर थाने के ग्राम मेहतपुर निवासी ऐलकार सिंह ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि 15 अप्रेल को वह अपने भतीजे प्रेम सिंह के साथ बाइक से बिजनियाखेड़ी गांव आ रहे थे। तभी राजस्थान के लक्ष्मीपुरा गांव के पास बाइक पंक्चर होने से समीप ही स्थित दुकान पर पंक्चर ठीक करवा रहे थे। तभी वहां पहुंचे सुसनेर थाना क्षेत्र के गांव पटपड़ा  निवासी शंकरसिंह, श्यामपुरा निवासी नारायणसिंह, पिड़ावा थाना क्षेत्र के खडग़पुरा निवासी भावसिंह, डग थाना क्षेत्र के गोरामाता के धतुरिया गांव निवासी पूरसिंह के कहने पर जबरन उसके भतीजे  को बाइक पर बैठाकर ले गए।

इस मामले में पुरानी रंजिश के चलते अपहरण का मामला सामने आया है। मामले में यह तथ्य सामने आया कि अपहृत किशोर का बड़ा भाई विक्रमसिंह डग क्षेत्र के गोरामाता के धतुरिया गांव से गत 14 जनवरी की पूरसिंह की लड़की को भगा ले गया था। इसी रंजिश को लेकर पूरसिंह ने युवक का अपहरण करवाया था। पुलिस का कहना है कि उन्होंने मामला दर्ज करने के बाद टीम गठित कर लगातार तलाशी शुरू की। 20 अप्रेल को अपहृत किशोर प्रेम सिंह को डग थाना क्षेत्र के बर्डिया के जंगल से दस्तयाब किया गया।

आरोपी पुलिस की गिरफ्त से दूर

मध्यप्रदेश की सीमावर्ती क्षेत्र से बहुचर्चित किशोर अपहरण के मामले में पुलिस ने किशोर को दस्तयाब तो कर लिया, लेकिन इस मामले के नामजद आरोपियों में से किसी भी आरोपी को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी।

मतदान की प्रेरणा के लिए रन-फोर-वोट मैराथन में उमड़ा शहर

स्वास्थ्य के लिए दौड़ तो चुनाव के लिए वोट जरूरी

कोटा । मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के तहत आयोजित की गयी रन-फोर- वोट की 5 किमी मैराथन में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ दो दर्जन से अधिक संगठनों के प्रतिनिधियों व आमजन ने बडी संख्या में भागीदारी निभाकर स्वास्थ्य के लिए दौड तो लोकतंत्र के लिए वोट का संदेश दिया।

जिला निर्वाचन अधिकारी मुक्तानन्द अग्रवाल ने उम्मेद क्लब भवन से उपस्थित नागरिकों को मतदान करने की शपथ दिलाकर रन-फोर-वोट मैराथन को झण्डी दिखाकर रवाना किया। जिला प्रशासन के इस नवाचार में लगभग 1000 नागरिकों ने भागीदारी निभाते हुए शहर के प्रमुख बाजार से गुजरते हुए 5 किमी की दौड को उत्साह पूर्वक पूरा किया।

प्रत्येक आयु वर्ग के नागरिकों ने इसमें भागीदारी निभाते हुए मतदाता जागरूकता की अलख जगाते हुए रास्ते में मिलने वाले नागरिकों, व्यापारियों को मतदान अवश्य करने के लिए प्ररित किया। रास्ते में जगह-जगह आम नागरिकों ने रन-फोर-वोट में भाग ले रहे नागरिकों के सम्मान में तालियां बजाकर स्वागत भी किया। रन-फोर-वोट के आगे डी.जे. की धुन पर मतदाताओं को प्रेरित करनें वाले संदेश एवं गीत बजाते हुए युवाओं की टोली चल रही थी। दौड़ में भाग लेने वाले प्रत्येक नागरिक को जिला प्रशासन की तरफ से मतदाता जागरूकता के लिए शुभंकर को उकेर कर तैयार कराया गया धातु का मैडल एवं कैप प्रदान की गयी। किशोर सागर में वाटर बाइक के माध्यम से भी वोट का संदेश दिया गया।

कोटा स्कूल ऑफ  ड्रामा ने किया नुक्कड नाटक

कार्यक्रम के शुभारम्भ से पूर्व उम्मेद क्लब भवन पर कोटा स्क्ूल ऑफ ड्रामा के कलाकारों ने नुक्क्ड नाटक के माध्यम से मतदाता जागरूकता का संदेश दिया। कलाकरों ने हाडौती की स्थानीय भाषा में आम नागरिकों को 29 अप्रेल को मतदान केन्द्रों पर जिला प्रशासन द्वारा की जा रही सुविधाओं की जानकारी देकर सभी मतदाताओं को मतदान करने एवं अपनी पसंद का सही उम्मीदवार चुनने का संदेश दिया।

यह चुना रास्ता

शहर के मतदाताओं को जागरूक करने के लिए प्रतीकात्मक रूप से आयोजित किया गया रन-फोर-वोट मैराथन उम्म्मेद क्लब से शुरू होकर, अग्रसेन चौराहा, विवेकानन्द चौराहा, लाडपुरा बाजार, लाडपुरा दरवाजा, रामपुरा बाजार से कोटा डोरिया मार्केट के समीप होकर किशोर सागर तालाब की पाल, गीता भवन, सेवन वंडर्स पार्क से नाग नागिन मन्दिर होकर, बड़ तिराया से किशोर सागर की पाल स्थित बारादरी पर सम्पन्न हुई।

गलत लोगों के चुने जाने से लोकतंत्र को नुकसान होता है

कोटा। राजस्थान हाईकोर्ट के  पूर्व महाधिवक्ता गुरुचरणसिंह गिल ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। जिसे बड़ा बनाने में देशवासियों का सबसे बड़ा योगदान है। लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए सज्जन शक्ति का प्रभावी भूमिका में होना बहुत जरूरी है। यदि सज्जनशक्ति तटस्थ भूमिका में आ जाती है तो गलत लोगों के चुने जाने से लोकतंत्र को नुकसान होता है।

कोटा इन्टेलेक्चुअल फोरम की ओर से आयोजित सेमीनार मे   मुख्य अतिथि  के पद से सबंोधित करते हुये  गिल ने उक्त विचार प्रकट करते हुये कहा कि देश के सुनियोजित विकास के लिए सत्ता व्यवस्था में स्थायित्व जरुरी तत्व है। कई बार बुराई का विरोध न करना और चुप रह जाना भी देशद्रोह की श्रेणी में माना जाना चाहिए। जब देश की बात होती है तो राष्ट्रहित में बोलना हर भारतीय का कर्तव्य है।

भारतीय प्रवृत्ति कभी किसी को नुकसान पहुंचाने की नहीं रही है। देश के प्रबुद्ध वर्ग का कर्तव्य है कि वे खुलकर सामने आएं आएं और देश के मुद्दों पर अपनी राय रखें। लोकतंत्र के महापर्व पर इन्टेलेक्चुअल वर्ग की विशेष भूमिका होती है। जिसे फिलहाल यह वर्ग निभाने में कुछ नाकाम रहा है।