कोडरमा, कोडरमा में पदस्थापित पुलिस इंस्पेक्टर राम नारायण ठाकुर अपने कृत्यों को लेकर एक बार फिर विवादों में हैं

0
141

कोडरमा, कोडरमा में पदस्थापित पुलिस इंस्पेक्टर राम नारायण ठाकुर अपने कृत्यों को लेकर एक बार फिर विवादों में हैं। पिछले दिनों डोमचांच में वाहन चेकिंग के दौरान एक नाबालिग लड़की को थप्पड़ मारने का मामला धीरे-धीरे तूल पकड़ता जा रहा है। मामले की जानकारी कुछ लोगों द्वारा मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ट्वीटर पर दिए जाने के बाद इनकी मुश्किलें और बढ़ गई है। मामले में हेमंत सोरेन ने पुलिस मुख्यालय व कोडरमा के पुलिस अधीक्षक को आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।
वहीं इस मामले में पुलिस अधीक्षक ने भी जांच कर आवश्यक कार्रवाई किए जाने की जानकारी ट्विटर पर सीएम और पुलिस मुख्यालय को दी है। ज्ञात हो कि गत 5 अगस्त को झुमरीतिलैया के प्रतिष्ठित चिकित्सक व डोमचांच रेफरल अस्पताल के पूर्व मेडिकल ऑफिसर डॉ वीरेंद्र कुमार के साथ झुमरीतिलैया के झंडा चौक पर सरे बाजार घसीट कर मारपीट किए जाने के मामले को लेकर उनके विरुद्ध तिलैया थाना में डॉक्टर के द्वारा मुकदमा दर्ज किया गया है।
इंस्‍पेक्‍टर आरएन ठाकुर।
वहीं दूसरी ओर राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने भी इस मामले को संज्ञान में लेकर एक जांच टीम गठित की है, जो शीघ्र ही कोडरमा आकर मामले की जांच करेगी। इस घटना के बाद कोडरमा के पुलिस अधीक्षक ने इंस्पेक्टर राम नारायण ठाकुर को तिलैया थाना प्रभारी के पद से हटाकर पुलिस लाइन भेज दिया था। कुछ दिनों पूर्व ही उन्हें डोमचांच का अंचल इंस्पेक्टर बनाया गया है।
इससे पूर्व भी कोडरमा थाना प्रभारी रहने के दौरान कोडरमा के ध्वजाधारी धाम परिसर में एक जेएमएम नेता के साथ मारपीट व लाठीचार्ज का मामला काफी तूल पकड़ा था। वहीं तिलैया थाना में भी प्रभारी रहते हुए उन्होंने कई लोगों के साथ अनावश्यक मारपीट की थी।(UNA)