कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने मंत्रिमंडल के सहयोगी जाकिर हुसैन पर हुए बम हमले को राजनीतिक साजिश करार दिया है

0
6

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने मंत्रिमंडल के सहयोगी जाकिर हुसैन पर हुए बम हमले को राजनीतिक साजिश करार दिया है और कहा है कि उन पर कुछ लोग अपनी पार्टी में शामिल होने के लिए दबाव बना रहे थे. घायल मंत्री से मिलने के बाद ममता बनर्जी ने राज्य के श्रम मंत्री पर हुए हमले की तुलना 1990 में पंजाब के मुख्यमंत्री रहे बेअंत सिंह के हत्याकांड से करते हुए कहा कि इस घटना के लिए रेलवे जिम्मेदार है.
ममता ने कहा, “पश्चिम बंगाल के मंत्री जाकिर हुसैन पर बुधवार को बम से किया गया हमला एक साजिश का हिस्सा था. उन पर हमला रेलवे परिसर में हुआ, इसलिए केन्द्रीय उपक्रम की जवाबदेही बनती है.” मुख्यमंत्री ने कहा, “जाकिर हुसैन एक बड़े व्यवसायी हैं … बीड़ी की एक बड़ी फैक्ट्री चलाते हैं. प्रत्यक्षदर्शी द्वारा बताया गया यह एक सुनियोजित हमला था,” उन्होंने कहा, “यह एक भयावह विस्फोट था. मैं स्तब्ध हूं. यह बेअंत सिंह विस्फोट जैसा है.”

ममता बनर्जी सरकार के मंत्री जाकिर हुसैन पर रेलवे स्टेशन पर हुआ बम से हमला, हाथों-पैरों में आई गंभीर चोटें
बनर्जी ने संवाददाताओं से कहा, “कुछ लोग पिछले कुछ महीनों से अपनी पार्टी में शामिल होने के लिए जाकिर हुसैन पर दबाव डाल रहे थे. मैं उनके नाम का खुलासा नहीं करना चाहती.” उन्होंने कहा कि विस्फोट में गंभीर रूप से घायल लोगों को राज्य सरकार की तरफ से 5 लाख और मामूली चोट लगने वाले लोगों को एक लाख का मुआवजा दिया जाएगा.
बता दें कि पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में निमटीटा रेलवे स्टेशन पर अज्ञात हमलावरों द्वारा बुधवार की रात बम से किए गए हमले में राज्य के मंत्री जाकिर हुसैन गंभीर रूप से घायल हो गए थे. तृणमूल कांग्रेस के जंगीपुरा से विधायक हुसैन और दो अन्य लोग इस हमले में घायल हुए हैं.
बंगाल में आज एक ही जिले में ममता बनर्जी और अमित शाह की चुनावी रैलियां
राज्य के मंत्री फिरहाद हकीम ने बताया कि हुसैन को बृहस्पतिवार की सुबह कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल लाया गया और उन्हें ‘ट्रॉमा सेंटर इकाई’ में भर्ती कराया गया है. उनके इलाज के लिए एक चिकित्सकीय बोर्ड का भी गठन किया गया है. इस बीच, पश्चिम बंगाल सरकार ने बम से हुए हमले की जांच बृहस्पतिवार को अपराध जांच विभाग (सीआईडी) को सौंप दी है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ जांच सीआईडी का सौंप दी गई हैं. एक ‘फोरेंसिक’ दल सुबह घटनास्थल भी गया था.” राज्य में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं.