कोलकाता, पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लगाए गए सप्ताह में दो दिन के पूर्ण लॉकडाउन की वजह से शुक्रवार को भी जन-जीवन प्रभावित रहा

0
23
कोलकाता, पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लगाए गए सप्ताह में दो दिन के पूर्ण लॉकडाउन की वजह से शुक्रवार को भी जन-जीवन प्रभावित रहा। इसके अलावा दक्षिण बंगाल के अधिकतर इलाकों में कल रात से ही हो रही मूसलाधार बारिश के कारण भी लोग अपने घरों में बंद रहे। पूर्ण लॉकडाउन के कारण सभी सार्वजनिक परिवहन, सरकारी और निजी कार्यालय, बैंक और अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद रहे। यहां कोलकाता अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से विमान सेवाएं निलंबित हैं और लंबी दूरी की ट्रेनों के समय में परिवर्तन किया गया है। दवा और दूध की दुकानें और पेट्रोल पम्प खुले हैं। पूर्ण लॉकडाउन को सख्ती से लागू करने के लिए कोलकाता और अन्य जिलों में प्रमुख चौराहों पर पुलिस कर्मी तैनात हैं। इसके बाद भी कैनिंग, कूच बिहार, मालदा और दुर्गापुर में लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करते हुए कुछ दुकानें खुली मिलीं। जिले के कुछ कस्बों में पुलिकर्मी पूर्ण लॉकडाउन में बाहर घूमते वाहनों के दस्तावेज की जांच करते नजर आए। लॉकडाउन दिशानिर्देशों के उल्लंघन के आरोप में राज्य भर में कुल 2,687 लोगों को गिरफ्तार किया गया, जिनमें से 541 कोलकाता से थे। पश्चिम बंगाल में 23 जुलाई, 25 जुलाई, 29जुलाई, पांच अगस्त और आठ अगस्त को पूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया था। आगामी 27 और 31 अगस्त को भी राज्य में पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। पश्चिम बंगाल में बृहस्पतिवार तक कोविड-19 के 1,29,119 मामले सामने आ चुके थे, जिनमें से 2,634 लोगों की जान जा चुकी है।