कोलकाता पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में इस बार असदुद्दीन ओवैसी भी अपने उम्मीदवार उतारने जा रहे हैं।

0
102

कोलकाता
पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में इस बार असदुद्दीन ओवैसी भी अपने उम्मीदवार उतारने जा रहे हैं। माना जा रहा है कि AIMIM के चुनावी मैदान में उतरने से ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस के लिए मुस्लिम वोटों के बंटने का डर है। ओवैसी खुद ममता को साथ मिलकर चुनाव लड़ने का ऑफर दे चुके हैं लेकिन जब ममता बनर्जी से ओवैसी पर सवाल किया गया तो वह भड़क गईं।
बातचीत में जब ममता से ओवैसी को लेकर सवाल किया गया तो ममता ने कहा कि मीडिया उन्हें इतना लोकप्रिय बनाने में क्यों जुटी है? ममता ने कहा, ‘उसका नाम लेकर इतना पॉप्युलर क्यों करते हैं टीवी पर, नाम क्यों लेते हैं?’ ममता ने आगे कहा, ‘अगर वह बंगाल आना चाहते हैं तो आने दीजिए, खाने दीजिए, बोलने दीजिए, रहने दीजिए, उससे कोई दिक्कत नहीं है।’ फुरफुरा शरीफ के नेता मेरे साथ हैं’
ममता बनर्जी ने आगे कहा, ‘लेकिन इन सब लोगों का नाम लेकर आप इनकी पॉप्युलैरिटी बढ़ा देते हैं। निगेटिव पब्लिसिटी से पॉजिटिव पब्लिसिटी बेहतर है। आप हमको जितना भी गाली दो लेकिन आपको हमको दिखाना है।’ वही फुरफुरा शरीफ दरगाह के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी से ओवैसी की मुलाकात पर ममता ने कहा, ‘फुरफुरा शरीफ के जितने लीडर हैं धार्मिक लीडर हैं, सब हमारे साथ हैं। वह मेरे सेक्युलरिज्म के साथ हैं।’

‘रथ यात्रा में लोग नहीं आए तो छिपकर भागते हैं’
ममता ने दावा किया कि उनका वोट बैंक कटेगा नहीं बल्कि जुड़ेगा। ममता ने बीजेपी की रथ यात्रा पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा, ‘ये लोग प्रोग्राम करते हैं रथ यात्रा, लोग नहीं आए, तो भागते हैं। इतना पैसा खर्च करने के बाद भी पीछे वाली सीट पर लुके- छिपे रहते हैं। हमको गाली देने से क्या होगा। हम तो मीटिंग करके आए सबने देखा, हमारी एक मीटिंग में लाखों लोग आता है। मां-बहन की संख्या आती है।’