कोलकाता,  बंगाल स्वास्थ्य विभाग ने कोविड-19 के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए ‘त्वरित प्रतिक्रिया दल’ (आरआरटी) के गठन का फैसला किया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को बताया कि आरआरटी में मरीजों के इलाज के लिए एक एनेस्थेसियोलॉजिस्ट (संवेदनाहरण विज्ञान विशेषज्ञ) और मेडिसिन विभाग का एक विशेषज्ञ होगा।

0
136
कोलकाता,  बंगाल स्वास्थ्य विभाग ने कोविड-19 के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए ‘त्वरित प्रतिक्रिया दल’ (आरआरटी) के गठन का फैसला किया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को बताया कि आरआरटी में मरीजों के इलाज के लिए एक एनेस्थेसियोलॉजिस्ट (संवेदनाहरण विज्ञान विशेषज्ञ) और मेडिसिन विभाग का एक विशेषज्ञ होगा।

अधिकारी ने बताया कि राज्यभर के कोविड-19 अस्पतालों में रोगी देखभाल सेवाओं को मजबूत करने के लिए यह कदम उठाया गया है। विभाग द्वारा जारी एक आदेश के अनुसार, ‘विशेषज्ञ और अन्य चिकित्सा अधिकारियों को कोविड अस्पतालों के पास रहना होगा।’

उल्लेखनीय है कि बंगाल में कोरोना का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। देश में सबसे अधिक संक्रमित वाले राज्यों में बंगाल भी शामिल है। यहां पिछले काफी समय से हर दिन 3,000 से ज्यादा नए मामले आ रहे हैं। साथ ही 55 से 62 लोगों की हर दिन कोविड-19 से मौत भी हो रही है। हालांकि एक सुखद बात है कि रिकवरी रेट भी लगातार बढ़ रहा है और यह लगभग 88 फीसद पर पहुंच चुका है।

राज्य में एक दिन पहले सोमवार को 3155 नए मामले आए थे और 56 लोगों की मौत हुई थी। इसी के साथ राज्य में संक्रमितों का आंकड़ा ढाई लाख को पार कर कुल संख्या 2 लाख 50 हजार 580 हो गई है, जिसमें 25,899 एक्टिव केस है। वहीं, मरने वालों की संख्या बढ़कर 4,837 हो गई है।

पिछले 24 घंटे में 2,923 मरीजों के स्वस्थ होने से ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या भी बढ़कर 2 लाख 19 हजार 844 हो गई। वहीं, मरीजों के स्वस्थ होने की दर (रिकवरी रेट) बढ़कर 87.73 फीसद हो गई जो रविवार को 87.67 फीसद थी।