कोलकाता, । वैश्विक कोरोना महामारी के खिलाफ आखिरकार देश में आखिरी जंग की शुरुआत शनिवार को हो गई है। सुबह 10:30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की, जिसके बाद पूरे देश के साथ बंगाल में भी टीकाकरण शुरु हो गया है।

0
21

कोलकाता, । वैश्विक कोरोना महामारी के खिलाफ आखिरकार देश में आखिरी जंग की शुरुआत शनिवार को हो गई है। सुबह 10:30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की, जिसके बाद पूरे देश के साथ बंगाल में भी टीकाकरण शुरु हो गया है। राज्य स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया है कि राज्य के 212 स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण अभियान शुरू हुआ है। इनमें राजधानी कोलकाता में 19 स्वास्थ्य केंद्र हैं जहां पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। बंगाल में कुल छह लाख स्वास्थ्य कर्मी हैं जिन्हें पहले चरण में टीका लगाया जाना है। केंद्र सरकार के नियमानुसार, प्रत्येक स्वास्थ्य केंद्र पर एक दिन में केवल 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा। यानी बंगाल में एक दिन में कुल 21 हजार 200 लोगों को टीका लगेगा।

कोलकाता स्थित राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल एसएसकेएम सहित कोलकाता मेडिकल कॉलेज, आरजी कर मेडिकल कॉलेज, नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज, नेशनल मेडिकल कॉलेज, चितरंजन सेवा सदन, स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन, बिधान चंद्र रॉय शिशु अस्पताल, बेलियाघाटा आईडी, एमआर बांगुर अस्पताल और विभिन्न बोरों में मौजूद स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई है। इसके अलावा कोलकाता के पांच बड़े निजी अस्पतालों जिसमें ढाकुरिया का आमरी अस्पताल, रबींद्रनाथ टैगोर हॉस्पिटल, अपोलो, पीयरलेस और टाटा मेडिकल सेंटर में भी टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हुआ है। इसके अलावा राज्य के सभी जिलों में मौजूद राजकीय अस्पतालों में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा रहा है। राज्य सचिवालय से खुद निगरानी रख रही हैं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

राज्य के शहरी विकास मंत्री और कोलकाता नगर निगम के प्रशासक फिरहाद हकीम ने बताया कि खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य सचिवालय नवान्न से टीकाकरण अभियान की पूरी प्रक्रिया पर निगरानी रख रही हैं। राज्य भर में हो रहे टीकाकरण अभियान की पूरी रिपोर्ट वह देख रही हैं। इसके अलावा राज्य के विभिन्न हिस्सों में जनप्रतिनिधियों को अस्पतालों में घूमकर टीकाकरण अभियान पर निगरानी रखने का निर्देश उन्होंने दिया है। उसी के मुताबिक फिलहाल फिरहाद हकीम भी कोलकाता के विभिन्न क्षेत्रों में घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि साल भर तक लोग महामारी की वजह से घरों में सिमटे हुए थे। डर लग रहा था कि पता नहीं कब कौन अपना हमेशा के लिए दूर हो जाए, लेकिन आज देश के लिए ऐतिहासिक दिन है। हमने कोविड-19 के खिलाफ जंग का आगाज कर दिया है। हम जीत गए। बताते चलें कि बंगाल में कुछ माह बाद होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले हाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के लोगों को मुफ्त में कोरोना टीका देने की भी घोषणा की है।