गर्म पानी से जलने से बच्ची की मौत

0
52

बच्चों से समानों को हमेशा आउट ऑफ रीच रखना चाहिए.दवा,चाकू,कैंची,पानी से भरा बाल्टी,माड़, फिनायल आदि

लतौना,10 मार्च. सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज के लतौना के निवासी हैं सनी. वह मजदूरी की तलाश में  दिल्ली गया था.वह दिल्ली में ही बस गया और वहीं पर  काम करने लगा.वह पत्नी और बच्ची जैक्लिन के साथ आनंद से रहने लगा. एक गलती ने सनी और उनकी पत्नी के बीच से आनंद और सुकून छीन लिया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार जैक्लिन की चंचलता याद है.इसी चंचलता के कारण वह गरम पानी से भरी बाल्टी में हाथ डाल दी.गरम पानी से बचने के दरम्यान जैक्लिन से बाल्टी का पानी गिर गया.इसके हाथ,पेट और पैर जल गया. जैक्लिन के चाचा अमरदीप कहते है कि इसी अवस्था में उठाकर हॉस्पिटल में गए.वहां इलाज हुआ.ठीक हो रही थी. हॉस्पिटल में व्यवहार में परिवर्तन कर ली थी.मां को तंग नहीं न करेगी.तो वह सिर हिला देती थी.सो जा तो आंख बंद कर लेती थी.इस बीच अचानक तबीयत खराब होने लगी.चिकित्सकों व परिचारिकाओं ने दवा और परिजन दुआ करने लगे.दुआ-दवा का प्रभाव नहीं पड़ा.लगी.अन्तत: चिकित्सकों व परिचारिकाओं की मेहनत काम नहीं आयी.वह 2.5 माह की थी.

आलोक कुमार