गिरिडिह

0
35
उपायुक्त ने प्राइवेट डॉक्टरों के साथ बैठक कर दिए आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश
उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी के द्वारा जानकारी दी गई कि वैश्विक महामारी घोषित हो चुकी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए देशव्यापी लॉक डाउन किया गया है। तथा पूरे जिले में धारा 144 लागू की गई है। COVID-19 से बचाव एवं रोकथाम हेतु जिला प्रशासन के द्वारा कई कदम उठाए जा रहे है। इस महामारी से निपटने के लिए जिला प्रशासन के द्वारा सारी तैयारियां सुनिश्चित की जा रही है। इसके आलोक में जिला स्तरीय रैपिड रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। जिसका दायित्व है कि जैसे ही कोई भी कोरोना संक्रमित व्यक्ति जिले में पाए जाते हैं तो रैपिड रिस्पांस टीम के द्वारा तत्काल उस गांव को सील कर दिया जाए। तथा पूरे गांव को सैनिटाइज एवं ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जाएं। तथा सभी घरों को चिन्हित कर आते हुए मेडिकल टीम के द्वारा एक-एक व्यक्ति की जांच करते हुए आवश्यकतानुसार उसे कोरेनटाइन तथा आइसोलेशन तथा आवश्यकता पड़ने पर कोविड-19 अस्पताल में भर्ती किया जाय। इसके अलावा उपायुक्त के द्वारा जानकारी दी गई कि जिला स्तर के साथ साथ  प्रखंडों में भी रैपिड रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। तथा प्रखंड स्तर पर भी सभी अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि अगर ऐसी स्थिति आती है कि काफी संख्या में कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाए जाते हैं तो उसी स्थिति में बहुत ज्यादा क्वॉरेंटाइन सेंटर एवं आइसोलेशन सेंटर की आवश्यकता होगी। जिले में काफी संख्या में क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं। तथा कोविड-19 के रूप में नामित मीना अस्पताल भी है। जिले में आइसोलेशन सेंटर बढ़ाने हेतु प्राइवेट डॉक्टर के साथ बैठक कर अनुरोध किया गया है कि वे अपने अपने हॉस्पिटल तथा नर्सिंग होम को आइसोलेशन सेंटर के रूप में तैयार करते हुए आगे के लिए पूरी तरह सजग रहें। इसके लिए आवश्यकता अनुसार बेड, जांच, उपचार हेतु तैयारियां पूर्ण कर लें। तथा अपने अपने कर्मियों को प्रशिक्षण दे दें। तथा प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट पीपीई, मास्क की उपलब्धता सुनिश्चित कर लें। इस संदर्भ में सभी प्राइवेट डॉक्टरों के द्वारा सहमति जताई गई। इसके अलावा उपायुक्त के द्वारा बताया गया कि लगातार ड्रग एसोसिएशन तथा मेडिकल टीम के साथ बैठक किया जा रहा है। जिले में किसी भी तरह के आवश्यक दवाइयों की कमी नहीं है। जो दवा जिले में उपलब्ध नहीं है उसे लाने हेतु दवा विक्रेताओं को बोकारो, रांची, धनबाद, जमशेदपुर के लिए स्पेशल पासेस दिया जा रहा है ताकि जिले में दवा की कमी न हों।
सिविल सर्जन, गिरिडीह, जिला आरसीएच पदाधिकारी, होली क्रॉस हॉस्पिटल के प्रतिनिधि, जीडी बगड़िया सेवा सदन के प्रतिनिधि, नवजीवन नर्सिंग होम के प्रतिनिधि, आजाद नर्सिंग होम के प्रतिनिधि तथा जिला एवं प्रखंड स्तर के डॉक्टर उपस्थित थे।