गुवाहाटी, असम में सत्तारूढ़ गठबंधन के सहयोगी असम गण परिषद ने एक स्थानीय अदालत का स्थगन आदेश प्राप्त नहीं होने का हवाला देते हुए बृहस्पतिवार को अपनी आम सभा की बैठक की।

17
378

गुवाहाटी, असम में सत्तारूढ़ गठबंधन के सहयोगी असम गण परिषद ने एक स्थानीय अदालत का स्थगन आदेश प्राप्त नहीं होने का हवाला देते हुए बृहस्पतिवार को अपनी आम सभा की बैठक की। एक जिला और सत्र अदालत ने बुधवार को अगप को अपनी निर्धारित बैठक आयोजित नहीं करने का आदेश दिया था क्योंकि इसने पार्टी के संविधान और कोविड-19 दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया। क्षेत्रीय पार्टी की आम सभा में अतुल बोरा को निर्विरोध फिर से अध्यक्ष निर्वाचित किया गया। पार्टी के ‘चुनाव अधिकारी’ फनी भूषण चौधरी ने सभा में घोषणा की। वह राज्य के खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के मंत्री भी हैं। बोरा ने कहा कि जल संसाधन मंत्री केशव महंत पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष बने रहेंगे। बैठक की शुरुआत से पहले, पार्टी के नेताओं ने एजेंडे के बारे में कोई टिप्पणी नहीं की। लेकिन सूत्रों ने कहा था कि नए अध्यक्ष के चुनाव का मुद्दा सामने आ सकता है। बैठक का कोई अन्य एजेंडा नहीं था और पूरे दिन की कार्यवाही तीन घंटे के भीतर समाप्त हो गई। पार्टी के कार्यकर्ता दो खेमों में बंटे हुए हैं। एक धड़ा पूर्व मुख्य मंत्री प्रफुल्ल कुमार महंत के साथ है जबकि दूसरा धड़ा बोरा के साथ है। पार्टी की कार्यकारी समिति ने बुधवार शाम को बैठक की थी और अपने नए अध्यक्ष के चुनाव सहित कई मुद्दों पर चर्चा की थी। पार्टी विधायक सत्यब्रत कलिता ने बैठक से पहले संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमें अभी तक अदालत का कोई आदेश नहीं मिला है। हमने आज के समाचार पत्रों में इसके बारे में पढ़ा है। लेकिन हम केवल मीडिया रिपोर्टों के आधार पर काम नहीं कर सकते।’’ उन्होंने कहा कि बैठक बुलाते समय पार्टी संविधान का सख्ती से पालन किया गया है और कोविड-19 संबंधी मानदंड लागू किए जाएंगे। बाद में, पार्टी महासचिव कमलाकांत कलिता ने कहा, “हमें दोपहर 12.45 बजे आदेश मिला, जबकि हमारा सत्र सुबह 11.45 बजे समाप्त हो गया। हमने वरिष्ठ वकील बिजन महाजन से आदेश के कानूनी पहलू पर गौर करने का अनुरोध किया है।” राज्य में भाजपा नीत सरकार में मंत्री बोरा ने कहा, “आम सम्मेलन बुलाना हमारा संवैधानिक दायित्व है। हम आने वाले दिनों में पार्टी को मजबूत बनाने के लिए कुछ निर्णय ले रहे हैं।” कामरूप जिला और सत्र अदालत ने बुधवार को पार्टी को सुनवाई की अगली तारीख तक यथास्थिति बनाए रखने के लिए कहा था। इस मामले में अगली सुनवाई 19 नवंबर को होनी है।

17 COMMENTS

  1. Nice blog here! Additionally your web site loads up very fast! What web host are you the usage of? Can I am getting your associate hyperlink for your host? I desire my website loaded up as quickly as yours lol

  2. Good – I should certainly pronounce, impressed with your website. I had no trouble navigating through all tabs as well as related information ended up being truly easy to do to access. I recently found what I hoped for before you know it at all. Reasonably unusual. Is likely to appreciate it for those who add forums or something, web site theme . a tones way for your client to communicate. Nice task..

  3. Thanks for sharing superb informations. Your website is so cool. I’m impressed by the details that you have on this web site. It reveals how nicely you understand this subject. Bookmarked this web page, will come back for extra articles. You, my pal, ROCK! I found just the info I already searched all over the place and just couldn’t come across. What a great website.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here