चन्दौली

0
1
एक बच्चे को गोद ले किया एक महान कार्य
ब्यूरो चन्दौली  चकिया/ चन्दौली चकिया कोतवाली  के अन्तर्गत ग्राम सभा शिकारगंज के बिसौर गाँव मे रहने वाले परदेशी राव ने गुरु पूर्णिमा के दिन एक अंजान बच्चे को गोद लेकर साबित कर दिया कि आज भी इन्शानियत जिन्दा है, बताया जा रहा है कि गुरु पूर्णिमा के  रात में 1 बजे किसी दम्पति ने बच्चे को जन्म दिया और बच्चे को हॉस्पिटल में ही छोड़कर चले गए पैसे के अभाव के कारण जोड़ा दम्पति बच्चे का इलाज नही करा पाने के कारण ही बच्चे को छोड़कर चले गए बताया जा रहा है कि बच्चे के इलाज की फीस नौ हजार रुपये एक दिन का था जिसके कारण बच्चे को हॉस्पिटल में ही छोड़ कर चले गए वही कार्यरत किरन पत्नी परदेसी राव को डॉ. आलोक ने बच्चे को उनको सुपुर्द कर दिया उनके पास बच्चा ना होने के कारण उन्होंने बच्चे को खुशी खुशी एडॉप्ट कर लिया। बच्चे का इलाज डॉ. आलोक अपने खर्चे से कर रहे है वही बच्चे को फिर से एक माँ बाप मिल गए। अगर ऐसा नही होता तो एक और बच्चे की जिन्दगी बरबाद होती, परदेशी राव ने बच्चे को गोद लेकर इन्शानियत को तार तार होने से बचा लिया।