चिकमंगलुरु कर्नाटक के चिकमंगलुरु में एक टीचर को गिरफ्तार किया गया है। 30 साल के इस टीचर से एक महिला कॉन्स्टेबल का नाम और नंबर कर्नाटक स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन के बस स्टेंड स्थित एक सामुदायिक शौचालय की दीवार पर लिखा था।

0
142

चिकमंगलुरु
कर्नाटक के चिकमंगलुरु में एक टीचर को गिरफ्तार किया गया है। 30 साल के इस टीचर से एक महिला कॉन्स्टेबल का नाम और नंबर कर्नाटक स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन के बस स्टेंड स्थित एक सामुदायिक शौचालय की दीवार पर लिखा था।
पुलिस ने बताया कि सतीश सीएम नाम का युवक कडुर का रहने वाला है। नॉर्थ ईस्ट सिटी पुलिस में महिला कॉन्स्टेबल ने उसके खिलाफ येलाहंका न्यू टाउन थाने में शिकायत दर्ज कराई थी।

आधी रात आने लगे फोन, लोग करते गंदी बात
महिला कॉन्स्टेबल ने पुलिस को बताया कि मामला उसके संज्ञान में तब आया जब उसके पास अज्ञात लोगों के फोन आने लगे। फोन करने वाले आधी रात में उसके साथ सेक्स करने की बातें करते। उसे घर बुलाने के रेट पूछने लगे। पहले उसने एक-दो नंबरों पर ध्यान नहीं दिया। जब इस तरह की कॉल्स ज्यादा बढ़ीं तो उसे आशंका हुई। एक कॉलर ने बताया कि टॉइलट की दीवार से मिला नंबर

महिला कॉन्स्टेबल ने एक कॉलर से पूछा कि उसे यह नंबर कहां से मिला तो उसने बताया कि यह नंबर कडुर बस स्टेंड के पुरुष शौचालय की दीवार में लिखा हुआ था। वह अपने पति के साथ 15 दिसंबर को शौचालय पहुंची। यहां दीवार पर उसका नंबर लिखा था। मोबाइल नंबर के साथ उसे सेक्स वर्कर बताया गया था। सहपाठी था सतीश
कॉन्स्टेबल ने लिखावट से पहचान लिया कि वह हरकत सतीश की थी। सतीश उसके साथ 2006-07 में एक टीचर ट्रेनिंग के दौरान सहपाठी था। 2017 में उसकी एक क्लासमेट ने वॉट्सऐप ग्रुप बनाया। इस ग्रुप में सतीश भी था। सतीश इस ग्रुप में आपत्तिजनक मेसेज करता था। इसके अलावा वह उसे फोन करके परेशान करता था। वॉट्सऐप ग्रुप से शुरू हुआ विवाद
महिला कॉन्स्टेबल ने बताया कि जब उसने सतीश को अवॉइड करना शुरू किया तो उसने उसे वॉट्सऐप ग्रुप से हटा दिया। उसे किसी दूसरे ग्रुप के सदस्य ने फिर से जोड़ लिया। सतीश ने उसे फिर से हटा दिया। कुछ महीने पहले उसने सतीश को फोन किया जिसके बाद दोनों का विवाद हो गया। सतीश ने बदला लेने और उसे बदनाम करने के लिए टॉइलट के अंदर उसका नंबर सेक्स वर्कर बताते हुए लिख दिया।