जज डेस्क के नीचे जा छिपे… कोर्ट रूम में गैंगस्टर गोगी को कैसे मारा गया

0
43


Delhi Rape Case : उन दरिंदों को मेरी बेटी की तरह जिंदा जला दो… दिल्ली में 9 साल की बच्ची की हत्या पर उबाल
कुख्यात गैंगस्टर जितेंद्र मान उर्फ गोगी (30) की शुक्रवार दोपहर को दो हथियारबंद बदमाशों ने रोहिणी कोर्ट में हत्या कर दी। वकील की यूनिफॉर्म में कोर्ट रूम के भीतर जज के सामने इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया। गोगी को जेल से लाने वाले दिल्ली पुलिस के जवानों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए दोनों बदमाशों को ढेर कर दिया। मारे गए बदमाशों की पहचान यूपी के बागपत जिले के राहुल फफूंदी और सोनीपत के जगदीप उर्फ जग्गा के तौर पर हुई है। रोहिणी की कोर्ट नंबर 207 में शुक्रवार को गैंगवॉर के एक मामले में गोगी और उसके विरोधी गैंगस्टर टिल्लू की पेशी थी। दोनों ही फिलहाल मकोका के तहत जेल में हैं। गोगी को स्पेशल सेल और थर्ड बटालियन की कस्टडी में कोर्ट में लाया गया। दोपहर करीब 1:24 बजे गोगी को अडिशनल सेशन जज गगनदीप सिंह की कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट रूम के दाईं और बाईं तरफ के बने कठघरों के पास दोनों बदमाश वकील की यूनिफॉर्म में खड़े थे। गैंगस्टर गोगी ठीक जज के सामने खड़ा था। इस दौरान बदमाशों ने दोनों तरफ से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। करीब आधा दर्जन गोलियां लगने से गोगी वहीं गिर पड़ा। इससे कोर्ट रूम में अफरा-तफरी मच गई। कोर्ट में अफरा-तफरी मचने के बाद जज भी डेस्क के नीचे छिप गए। फिर जेल से गोगी को लाने वाले स्पेशल सेल और थर्ड बटालियन के जवानों ने भी ताबड़तोड़ फायर खोल दिए। वकील की यूनिफॉर्म में खड़े दोनों बदमाशों को कोर्ट रूम के भीतर ही ढेर कर दिया गया। इनकी पहचान यूपी के बागपत निवासी राहुल फफूंदी और दिल्ली के बक्करवाला गांव के रहने वे मौरिस के तौर पर हुई है। इस गैंगवॉर के दौरान कोर्ट में 15 मिनट तक गोलियां चलती रहीं। गोगी की हत्या के बाद तिहाड़ में भी गैंगवॉर की आशंका है। तिहाड़, रोहिणी, मंडोली जेल में गैंग के 50 मेंबर बंद हैं। पुलिस ने दिल्ली के सभी बड़े गैंग और इनके सदस्यों को तिहाड़ में रखा है। गोगी की हत्या के बाद अब इसके गैंग के लोग बदला लेने की कोशिश करेंगे। गैंगस्टर जितेंद्र मान उर्फ गोगी और सुनील मान उर्फ टिल्लू ताजपुरिया जिगरी दोस्त हुआ करते थे। बाहरी दिल्ली के श्रद्धानंद कॉलेज छात्र संघ चुनाव के दौरान यह दोस्ती टूट गई। दोनों फिर बन गए एक-दूसरे के जानी दुश्मन। गोगी को मार्च 2020 में स्पेशल सेल ने गुड़गांव से गिरफ्तार किया। लेकिन उसका गैंग लगातार वारदातें करता रहा। गोगी गैंग ने जुलाई 2020 में खेड़ाखुर्द गांव में रवि को उसके घर के बाहर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर मार दिया। टिल्लू ताजपुरिया गैंग ने 31 जुलाई 2021 को गोगी गैंग के मेंबर प्रवेश के भाई नीतेश का रोहिणी के कराला में मर्डर कर दिया।