जिला शिक्षा पदाधिकारी को गोली मारकर हत्या करने वाले हत्यारों को कोर्ट ने उम्र कैद की सजा मुकर्रर किया

0
57

कोर्ट ने 3 वर्ष 7 माह में फैसला सुनाया

UNA NEWS
Kaimur Bureau,
विनोद कु राम /संवाददाता
भभुआ -बिहार लोक सेवा आयोग के परीक्षा में सफल जिला शिक्षा अधिकारी के पद पर तैनात होने वाले संजय सिंह को अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दिया था। चैनपुर थाना कांड संख्या- 284/2018 में सूचक चैनपुर थाना क्षेत्र के स्वर्गीय बाला सिंह के पुत्र हरेंद्र सिंह ने कहा है कि मेरे छोटे भाई संजय सिंह का बिहार लोक सेवा आयोग के अंतर्गत जिला शिक्षा पदाधिकारी के पद पर दिनांक 21 अक्टूबर 2018 को पटना में जाकर ज्वाइन करना था। भभुआ थाना क्षेत्र के दतियाव गांव निवासी गोपाल सिंह के पुत्र गौरव सिंह 19 अक्टूबर 2018 को सुबह 8:30 बजे मैं और मेरा भाई मोटरसाइकिल से सवार होकर सुबह 6:00 बजे बबुरहन गांव जा रहे थे तभी गौरव सिंह ने मोटरसाइकिल को ओवरटेक करते हुए गंगापुर गांव के समीप हाजड़ा पुल से उत्तर तरफ से मेरे छोटे भाई संजय सिंह को गौरव सिंह ने सीने में गोली मार दिया। जिससे मेरे छोटे भाई संजय सिंह को खून बहने लगा जिसको में चिकित्सीय उपचार हेतु सदर अस्पताल भभुआ ला रहा था जो रास्ते में ही दम तोड़ दिया। अपर जिला एवं सत्र न्यायालय पंचम के विद्वान न्यायाधीश मधुकर सिंह ने उक्त हत्याकांड में 13 गवाहों की गवाही एवं उनकी विधवा पत्नी रागिनी सिंह एवं विश्वजीत सिंह के गवाही एवं पुलिस के द्वारा प्रस्तुत की गई सबूत को मानते हुए दतियाव निवासी गौरव सिंह को भादवी 302 के तहत सश्रम आजीवन कारावास की सजा मुकर्रर किया एवं पांच लाख रुपए अर्थदंड जुर्माना भी लगाया जुर्माना नहीं जमा करने पर छः माह अतिरिक्त सजा भुगतना पड़ेगा। भादवी 27 (1) आर्म्स एक्ट में 5 वर्ष की सजा एवं एक लाख रुपया का अर्थदंड लगाया नहीं जमा करने पर छह माह अतिरिक्त सजा भुगतना पड़ेगा। न्यायालय ने गौरव सिंह को सभी सजा एक साथ भुगतने का फरमान जारी किया है। कोर्ट में अपर लोक अभियोजक कामता प्रसाद सिंह एवं बचाव पद से अजीत कुमार सिंह ने बहस में भाग लिया। यह फैसला 3 वर्ष 7 माह में कोर्ट ने फैसला मुकर्रर किया। अभियुक्त गौरव सिंह पर छः लाख रुपए अर्थदंड पीड़ित परिवार को देने का भी फरमान जारी किया। मृतक संजय कुमार सिंह का जो छोटे-छोटे मासूम बच्चे भी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here