ट्रेन की चपेट में हाथी के बच्चे के साथ उसकी माँ की मौत

14
174


तांगी, ओड़ीशा
25 दिसंबर

वनों में मनुष्य की बेवजह दाखल, सिमटते वन्य आवास का नतीजा बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हो रहा है। ओड़ीशा में जगलों की अंधाधुंध कटाई और इंसानी दखल के चलते हाथी सहित अन्य शिकारी जीव गाँव-देहात में आ जाते हैं। इसके साथ ही जंगल के बीचोबीच से गुजरते रेलवे ट्रैक भी वन्य जीवों के क़तलगाह बने हुए हैं। ऐसे ही एक दर्दनाक घटना में माँ हाथी और बच्चा मौत बनकर आ रही मालगाड़ी का शिकार हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हाथियों को इतनी गहरी चोट लगी कि दोनों माँ-बच्चे की तत्काल मौत हो गई। यह इतना हृदय विदारक घटना था कि वहाँ से गुजरने वाला हर सख्स गमगीन था। आसपास के गाँव वालों ने बताया कि अक्सर हाथी भोजन की तलाश में गाँव में या ग्रामीणो के खेतों में घुस जाते हैं। घटना के दिन भी हाथियों का झुंड आसपास घूमता हुआ दिखा था। घटना की खबर मिलते ही वन विभाग के रेंजर और जवान घटना स्थल पर पहुँच गए। निराकरपुर रेलवे स्टेशन के पास हाथियों के झुंड को घूमते देखा गया था। कल एक ट्रेन दुर्घटना में एक हाथी के बच्चे और एक हाथी के बच्चे की माँ की मालगाड़ी से टकरानने से मौत हो गई। यह घटना खोरधा रेलवे मंडल के अंतर्गत भूषणपुर रेलवे स्टेशन के पास कंतलबाई रेलवे गेट के पास हुई थी। बीती रात मालगाड़ी एक ट्रेन से आमने-सामने टकरा गई। आज सुबह दो शव मिले। तंगी वन रेंज के बीच गुजरते रेलवे ट्रैक के दोनों ओर किसी तरह का कोई अवरोधक या बाड़ नहीं लगाया गया है, जिससे अक्सर वन्य जीव ट्रेन की चपेट में आ जाते हैं। दूसरी ओर, वन्यजीव विभाग ने मांग की है कि खोरधा रेलवे डिवीजन हाथियों की सुरक्षा के लिए सुरक्षात्मक उपाय करे।


भबानी शंकर नायक की रिपोर्ट

14 COMMENTS

  1. Hi, I think your site might be having browser compatibility issues. When I look at your website in Safari, it looks fine but when opening in Internet Explorer, it has some overlapping. I just wanted to give you a quick heads up! Other then that, fantastic blog!

  2. Great V I should certainly pronounce, impressed with your site. I had no trouble navigating through all the tabs as well as related info ended up being truly simple to do to access. I recently found what I hoped for before you know it in the least. Quite unusual. Is likely to appreciate it for those who add forums or anything, site theme . a tones way for your client to communicate. Excellent task..

  3. I wish to express some appreciation to you for bailing me out of this particular trouble. Right after surfing through the world wide web and seeing solutions which are not beneficial, I was thinking my entire life was gone. Living devoid of the solutions to the problems you’ve resolved all through your guideline is a serious case, and ones which could have in a negative way damaged my entire career if I hadn’t discovered the blog. Your primary competence and kindness in dealing with all the pieces was tremendous. I don’t know what I would have done if I hadn’t discovered such a thing like this. I am able to at this moment look ahead to my future. Thank you very much for the expert and sensible help. I won’t think twice to recommend your blog to any person who would like tips about this subject.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here