ट्रेन में सफर के दौरान न करें ये गलती, महज 16 दिन में यात्रियों से वसूला गया 1.17 करोड़ रुपये जुर्माना

0
30

नई दिल्ली । कोरोना काल में सीमित संख्या में ट्रेनें चल रही हैं। कंफर्म टिकट के बिना लंबी दूरी की ट्रेनों में सफर करने की मनाही है। बावजूद इसके लिए बिना टिकट लिए लोग ट्रेन में सवार हो जा रहे हैं। इन्हें रोकने के लिए रेल प्रशासन ने अभियान शुरू किया है। दिल्ली मंडल में इस माह 16 तारीख तक बेटिकट यात्रियों से एक करोड़ रुपये से ज्यादा का जुर्माना वसूला गया है। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में भी अभियान जारी रहेगा।
कोरोना संक्रमण का प्रकोप कम होने के साथ ही विशेष ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जा रही है। लोकल ट्रेनें भी पटरी पर लौट रही हैं। इसके साथ ही बेटिकट यात्रियों की संख्या बढ़ने लगी है। इन दिनों सिर्फ कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को ट्रेन में सफर करने की अनुमति है। लंबी दूरी की ट्रेनों के सामान्य श्रेणी कोच में सफर करने के लिए भी सीट आरक्षित कराना पड़ता है। पहले सिर्फ कंफर्म टिकट वालों को प्लेटफार्म पर जाने दिया जाता था, लेकिन अब प्लेटफार्म टिकट की बिक्री शुरू होने और कुछ लोकल ट्रेनों के चलने से सख्ती कम हो गई है। इसका फायदा उठाकर बिना टिकट या फिर प्लेटफार्म टिकट लेकर कई लोग ट्रेन में सवार हो जाते हैं। उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने बताया कि बिना टिकट यात्रियों को ट्रेन में सवार होने से रोकने के लिए स्टेशनों व ट्रेनों में जांच अभियान चलाया जा रहा है। एक से 16 जुलाई तक 22,410 यात्रियों को बिना टिकट पकड़कर इनसे 1.17 करोड़ रुपये जुर्माना वसूला गया। इस दौरान जुर्माना नहीं देने पर 175 यात्रियों को रेलवे मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। बता दें कि बेटिकट यात्रियों की धड़पकड़ के लिए रेलवे विशेष अभियान चलाया हुआ है। अगर आप भी ट्रेन में सफर करना चाहते हैं तो जुर्माना से बचने के लिए टिकट अवश्य लें। वरना आपको भी जेब हल्की करनी पड़ सकती है।