तुगलकाबाद हिंसा

0
1
दिल्ली के तुगलकाबाद में बुधवार रात हुई हिंसा में अबतक 91 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इसमें भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर आजाद उर्फ रावण भी शामिल हैं. गुरुवार सुबह पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया. दिल्ली पुलिस के जवानों के साथ पैरामिलिट्री फोर्स को भी तैनात किया गया.
तुगलकाबाद हिंसा के दौरान बुधवार रात 15 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए थे और दर्जनों गाड़ियों में तोड़-फोड़ की गई थी. पुलिस ने गिरफ्तार सभी 91 आरोपियों पर दंगा फैलाना, सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का मामला दर्ज किया है. सभी आरोपियों को आज साकेत कोर्ट में पेश किया गया जाएगा.
क्या है पूरा मामला
तुगलकाबाद इलाके में रविदास मंदिर तोड़े जाने के खिलाफ बुधवार शाम दलित समाज के लोगों ने रामलीला मैदान में विशाल प्रदर्शन किया. इस आंदोलन में दलित समुदाय के नेता और भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर मौजूद थे. इस मौके पर दिल्ली सरकार के मंत्री राजेंद्र पाल गौतम भी मौजूद थे. इस विरोध प्रदर्शन में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश से दलित समुदाय के सैकड़ों लोग भी शामिल हुए.
इसके बाद कई घंटे तक जमकर बवाल हुआ. रामलीला मैदान में रैली के बाद हजारों की संख्या में दलित समुदाय के लोग तुगलकाबाद पहुंचे और पत्थरबाजी शुरू कर दी. हिंसा के दौरान 15 पुलिसकर्मी समेत दर्जनभर लोग जख्मी हो गए. जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने लाठियां भांजी और कई राउंड हवाई फायरिंग की.
इलाके में अर्धसैनिक बलों को भी तैनात कर दिया गया है. भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर को गिरफ्तार कर लिया गया. गोविंदपुरी थाने में केस दर्ज किया गया है. कई और कार्यकर्ताओं को