तेजी से बढ़ रहा मानसून, इन राज्यों में 4 दिन होगी भारी बारिश, जानें बिहार-झारखंड-यूपी सहित अन्य राज्यों का हाल

0
9

नई दिल्ली, बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है जिसके कारण आज बंगाल, झारखंड, उड़ीसा, छत्तीसगढ़, तेलांगना, विदर्भ व पूर्वी मध्य प्रदेश में भी भारी बारिश की आशंका व्यक्त की जा रही है। अगले दो-तीन दिन में मानसून मध्य व पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में तेजी से आगे बढ़ सकता है। सप्ताहांत में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बारिश हो सकती है। मुंबई में झमाझम बारिश हो रही है।
मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मानसून आगे पूरे मध्य और उत्तरी अरब सागर के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ गया है। मुंबई सहित संपूर्ण कोंकण और आंतरिक महाराष्ट्र के अधिकांश भाग, दक्षिण गुजरात के कुछ हिस्से क्षेत्र, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के कुछ और हिस्से, मध्य बंगाल की खाड़ी के अधिकांश हिस्से में पहुंच चुका है। इसके अलावा दक्षिण-पश्चिम मानसून के अरब सागर और महाराष्ट्र के शेष हिस्सों में आगे बढ़ने की संभावना है। कुछ गुजरात के अधिक हिस्से और तेलंगाना के शेष हिस्से, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्से, और पूर्वी उत्तर प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, झारखंड, छत्तीसगढ़ और बिहार में आने वाले दो दिनों तक पहुंचने की उम्मीद बनी हुई है।
वहीं स्काईमेट वेदर के अनुसार तटीय कर्नाटक में आज भारी बारिश जारी रहेगी। इसके अलावा गोवा, मुंबई में भी भारी बारिश देखने को मिलेगी। 11 से 13 तारीख तक झारखंड, बिहार, बंगाल, ओडिशा, छत्तीसगढ़, पूर्वी उत्तर प्रदेश और पूर्वी मध्य प्रदेश तक मानसून पहुंच जायेगा और इन स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश देखने को मिलेगी।
अगले 48 घंटे में बिहार में प्रवेश कर जाएगा मानसून, अलर्ट जारी
IMD वैज्ञानिक आशीष कुमार ने बताया कि अनुमान है कि अगले 48 घंटे में मानसून बिहार में प्रवेश कर जाएगा। जब भी मानसून की शुरूआत होती है उससे पहले पूरे प्रदेश में वज्रपात और आकाशीय बिजली गिरने की घटनाएं बढ़ जाती हैं, इसलिए हमने येलो और ऑरेंज अलर्ट जारी कर रखा है। बिहार कई हिस्सों में बुधवार से शनिवार यानी 12 जून तक तेज आंधी, पानी के साथ वज्रपात की आशंका है। मौसम विभाग ने इसके लिए चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग की चेतावनी के अनुसार उत्तर-पश्चिम बिहार के पश्चिमी चंपारण, सीवान, सारण, पूर्वी चंपारण और गोपालगंज के कुछ हिस्सों में मेघ गर्जन के साथ आंधी-तूफान आएगा। उत्तर-मध्य बिहार के सीतामढ़ी, मधुबनी मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर और समस्तीपुर में भी यही स्थिति रहेगी।
मद्रास हाई कोर्ट ने तमिलनाडु में प्राचीन मंदिरों की हिफाजत से जुड़े एक फैसले में अहम टिप्पणी की है।
मंदिरों के संरक्षण पर मद्रास हाई कोर्ट बोला- जो विज्ञान खोज रहा,