नई दिल्ली:- गति तेज करने और स्वास्थ्य सुविधाओं तक उसकी पहुंच सुनिश्चित करने के लिए तेज गति से काम करने की आवश्यकता पर बल दिया-प्रधानमंत्री

0
58

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना से भयावह स्थिति बनी हुई है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल का कल का दौरा रद्द कर दिया है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि कल कोरोना की स्थिति पर उच्च स्तरीय बैठक करेंगे. इसकी वजह से मैं पश्चिम बंगाल नहीं जाऊंगा. पीएम मोदी सातवें और आठवें चरण के विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए कल पश्चिम बंगाल जाने वाले थे.
बता दें कि देश में पिछले कुछ दिनों से रिकॉर्ड नए मामले आ रहे हैं. आज ही तीन लाख 14 हजार 835 नए मामलों की पुष्टि हुई है और 2104 मरीजों की मौत हुई है. देश में जान गंवाने वालों की संख्या 1,84,657 हो गई है.
कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से देशभर में अस्पतालों में भीड़ देखी जा रही है. दिल्ली समेत कई राज्यों ने ऑक्सीजन की कमी की शिकायत की है. इसको लेकर आज सुप्रीम कोर्ट ने भी संज्ञान लिया.
ऑक्सीजन की कमी की शिकायत के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समीक्षा बैठक की.प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने बयान जारी कर कहा कि प्रधानमंत्री ने ऑक्सीजन का उत्पादन बढ़ाने, उसके वितरण की गति तेज करने और स्वास्थ्य सुविधाओं तक उसकी पहुंच सुनिश्चित करने के लिए तेज गति से काम करने की आवश्यकता पर बल दिया.
इस दौरान अधिकारियों ने पिछले कुछ सप्ताहों में ऑक्सीन की आपूर्ति बेहतर करने की दिशा में उठाए गए कदमों से प्रधानमंत्री को अवगत कराया.बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री को बताया गया कि राज्यों की ऑक्सीजन की मांग और उसके अनुसार उसकी पर्याप्त आपूर्ति के लिए सभी राज्य सरकारों के साथ सहयोग किया जा रहा है. आठ चरण में वोटिंग
पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के लिए आठ चरणों में वोटिंग हो रही है. इनमें से पांच चरणों की वोटिंग हो चुकी है. छठे चरण के लिए आज वोट डाले जा रहे हैं. सातवें चरण के तहत पांच जिलों की 36 सीटों पर 26 अप्रैल और आठवें चरण के तहत चार जिलों की 35 सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान होगा. वोटों की गिनती दो मई को होगी.
राज्य में पहले चरण के तहत पांच जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर 27 मार्च को, दूसरे चरण के तहत चार जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर एक अप्रैल को, तीसरे चरण के तहत 31 विधानसभा सीटों पर छह अप्रैलो को, चौथे चरण के तहत पांच जिलों की 44 सीटों पर 10 अप्रैल को और पांचवें चरण के तहत छह जिलों की 45 सीटों पर 17 अप्रैल को वोट डाले गए थे.