नई दिल्ली: भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का आगाज हो गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज (16 जनवरी, शनिवार) टीकाकरण अभियान (Vaccination Drive in India) की शुरुआत की

0
189

नई दिल्ली: भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का आगाज हो गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज (16 जनवरी, शनिवार) टीकाकरण अभियान (Vaccination Drive in India) की शुरुआत की. आज देशभर में तीन लाख लोगों को टीका लगेगा. पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम का शुभारंभ किया. संबोधन के दौरान एक पल ऐसा भी आया, जब प्रधानमंत्री कोरोना काल के दौरान जान गंवाने वाले हेल्थ-फ्रंटलाइन वर्कर्स को याद कर भावुक हो गए.
PM नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘सैकड़ों साथी ऐसे भी हैं जो कभी घर वापस लौट नहीं पाए. उन्होंने एक-एक जीवन को बचाने के लिए अपना जीवन आहूत कर दिया, इसलिए आज कोरोना का पहला टीका स्वास्थ्य सेवा से जुड़े लोगों को लगाकर एक तरह से समाज अपना ऋण चुका रहा है.’ यह कहते हुए प्रधानमंत्री भावुक हो गए.
पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘आज के दिन का पूरे देश को बेसब्री से इंतजार रहा है. कितने महीनों से देश के हर घर में बच्चे, बूढ़े, जवान सभी की जुबान पर ये सवाल था कि कोरोना वैक्सीन कब आएगी. अब वैक्सीन आ गई है, बहुत कम समय में आ गई है.’ प्रधानमंत्री मोदी ने रामधारी सिंह दिनकर को उद्धृत करते हुए कहा, ‘मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है.’
“वैक्सीन की 2 डोज हैं जरूरी, भूल से भी…” : वैक्सीनेशन शुरू करते वक्त PM मोदी ने कही ये 5 अहम बातें
प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘टीकाकरण अभियान के पहले चरण में तीन करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. दूसरे चरण में हमें इसको 30 करोड़ की संख्या तक ले जाना है. जो बुजुर्ग हैं, जो गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं, उन्हें इस चरण में टीका लगेगा. आप कल्पना कर सकते हैं, 30 करोड़ की आबादी से ऊपर के दुनिया के सिर्फ तीन ही देश हैं- खुद भारत, चीन और अमेरिका. इतिहास में इतने बड़े स्तर का टीकाकरण अभियान पहले कभी नहीं चलाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here