नई रेलमार्ग परियोजना के लिए विशेषज्ञ समिति की बैठक।

0
51


कोरापुट-ओड़िशा राज्य का कोरापुट जिले जयपुर से नबरंगपुर और मलकानगिरी तक नई रेलमार्ग परियोजना के लिए एक विशेषज्ञ समिति की बैठक आज कोरापुट में हुई।कोरापुट की अतिरिक्त जिलाधिकारी देबेन कुमार प्रधान की अध्यक्षता से हुई बैठक में सामाजिक मूल्यांकन रिपोर्ट पेश की गई।अतिरिक्त जिलाधिकारी श्री प्रधान ने जानकारी दी कि कोरापुट जिले की जयपुर से मलकानगिरी तक नई रेलमार्ग परियोजना के लिए २७किमी का सर्वेक्षण पूरा हो चुका है और शेष १०किमी सर्वेक्षण कार्य १५दिन के भीतर पूरा कर लिया जाएगा।उन्होंने कहा कि सामाजिक मूल्यांकन के दौरान लगाए गए सभी आरोपों की जांच किये गई।उसी तरह जयपुर से नबरंगपुर तक रेलमार्ग सर्वेक्षण पूरा हो चुका है।परंतु इस में बोरिगूम्मा शहर दे के रेलमार्ग जाने का यो नक्सा प्रस्तुत किये गए थे उसको बोरिगूम्मा निवासियों ने विरोध किया।निवासियों ने शहर मध्य भाग पर रेलमार्ग न जाने के लिए कोरापुट जिलाधीश से सिकायत की थी।ईसलिए रेलमार्ग को शहर से दो किलोमीटर स्थानांतरित करने के लिए रेल विभाग को जिला प्रशासन सुपारिश किए थे।रेल विभाग ये प्रस्ताव स्वीकार कर लिया और उधर पुनःसर्वेक्षण करने को मंजूरी दि गई।इस बैठक में जयपुर के उप जिलाधिकारी तथा विशेष भू-अर्जन अधिकारी हेमकांन्त साए,सदस्य गदाधर परिडा,कृष्ण सिंह,सुधाकर पट्टनायक समेत कुन्द्रा तहसीलदार ए मण्डल,बैपारिगुडा तहसीलदार कैलाश त्रिपाठी,जयपुर तहसीलदार टुलिआम्मा प्रधान,विशाखापट्टनम रेल्वे डिविजन कि उपमुख्य यन्त्री एस मयिलेरि,जगदलपुर कि उपमुख्य यन्त्री एस निराकेश्वर राउ और एसएसइएस गोपालुडु,कोरापुट रेल्वे कि निर्वाही यन्त्री के रविन्द्र कुमार प्रमुख के साथ स्थानीय लोक प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।सुचनायोग्य,उडिशा राज्य कि कोरापुट जिले जयपुर से मलकानगिरी और नबरंगपुर तक नई रेलमार्ग परियोजना को केंद्र केबिनेट कि आर्थिक व्यापार कमिटि से २०१८ में अनुमोदन मिला था।