नशा मुक्ति केंद्रों के संचालन व संचालकों के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर यूकेडी ने दिया जिलाधिकारी को ज्ञापन

0
32

उत्तराखंड क्रांति दल के जिला अध्यक्ष दीपक रावत द्वारा देहरादून में अवैध रूप से चल रहे नशा मुक्ति केंद्रों को तत्काल बंद कराए जाने और वर्तमान में नशा मुक्ति केंद्रों और संचालकों द्वारा केंद्रों में हत्या एवं बलात्कार जैसे संगीन अपराध को अंजाम दिया जा रहा है l नशा मुक्ति केंद्रों को अपराध का केंद्र बनाया जा रहा है और इनमें नशा मुक्ति के नाम पर पैसा ठगी ,दुष्कर्म ,मारपीट एवं नशे का व्यापार,देह व्यापार मुख्य उद्देश्य बन गया है l नशा मुक्ति केंद्रों में आए व्यक्तियों और महिलाओं का जिनका कोई रिकॉर्ड इनके पास नहीं गया है ,यह उन व्यक्तियों को मानव तस्करी व देह व्यापार कराने के उद्देश्य से उनका रिकॉर्ड सुचारू रूप से नहीं करते, ताकि इन लोगों की तस्करी की जा सके ।कुछ समय पूर्व में दो नशा मुक्ति केंद्र संचालकों द्वारा हत्या एवं दुष्कर्म किए गए और उनके खिलाफ हत्या और दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया,लेकिन अपराधीयो को आज तक पुलिस /प्रशासन द्वारा गिरफ्तार नहीं किया गया,इससे यह प्रतीत होता है की इन सभी में शासन और प्रशासन के लोगो के संपर्क में है,जिसकी वजह से पुलिस आज तक इन को गिरफ्तार नहीं कर पाई है l
केंद्रीय महिला अध्यक्ष प्रमिला रावत और जिला उपाध्यक्ष मीनाक्षी सिंह ने पुलिस और शासन की कार्यप्रणाली पर आरोप लगाते हुए कहा कि नशा मुक्ति केंद्र समाज सुधारने की आड़ में देह व्यापार और मानव तस्करी जैसे अपराध को अंजाम दे रहे हैं , राज्यों में संचालित सभी नशा मुक्ति केंद्रों को तत्काल प्रभाव से बंद करने के आदेश जारी करें l नशे का कारोबार कर रहे नशा मुक्ति केंद्र बंद करने के स्पष्ट आदेश न होने पर नशा मुक्ति केंद्रों पर होने वाली घटनाओं और अपराध की पुनरावृत्ति होने पर जिला प्रशासन दोषी होगा,जिसके खिलाफ उत्तराखंड क्रांति दल प्रदेश भर में जनता के साथ उग्र आंदोलन करेगा l
जिलाअधिकारी को ज्ञापन देने में वरिष्ठ नेता लता पथ हुसैन, केंद्रीय महामंत्री जय प्रकाश उपाध्याय, केंद्रीय प्रवक्ता विजय बुरई ,केंद्रीय सचिव अशोक नेगी, कोषाध्यक्ष मुकेश कुंदरा, जितेंद्र ,वीरेंद्र, मिथिलेश, सरोज आदि मौजूद रहे।