रालोसपा ने समाज कल्याण विभाग में स्मार्ट फोन खरीद में वित्तीय घोटाला का आरोप लगाया है। पार्टी अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने बुधवार को प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में दस्तावेजों के आधार पर दावा किया कि विभाग ने फोन खरीद में छह करोड़ अधिक का भुगतान किया।

रालोसपा अध्यक्ष ने कहा कि अक्टूबर 2018 में विभाग ने 33 हजार 914 स्मार्ट फोन खरीदे। इस मद में 31 करोड़ 04 लाख का भुगतान किया गया। भुगतान राशि के अनुसार प्रति फोन 9153 रुपए ही हुए। जिस फोन की खरीदारी हुई, उस समय बाजार में इसकी कीमत सात हजार से भी कम थी। यही नहीं, जिस मोबाइल की खरीद की गई, उसके फीचर्स और मेमोरी कम होने के कारण यह अप्रचलित हो चुके थे। बाजार दर से दो हजार प्रति मोबाइल अधिक भुगतान कर विभाग ने छह करोड़ 78 लाख अधिक दिए। 33 हजार फोन खरीदने के लिए अगर कंपनी से बात की गई होती तो बाजार से भी कम पैसे देने पड़ते, लेकिन विभाग ने अधिक भुगतान किया।

उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि इस मसले पर सीएम को पत्र लिखा है कि वे बताएं कि भ्रष्टाचार पर उनकी जीरो टॉलरेंस नीति का क्या हुआ। रालोसपा इस मसले पर सड़क पर उतरेगी। धरना-प्रदर्शन करेगी। दावा किया कि आगे भी दूसरे विभागों में खरीद और उसमें हुई वित्तीय अनियमितता पर दस्तावेजों के साथ खुलासा करेंगे। मौके पर राजेश यादव, सत्यानंद प्रसाद दांगी, फजल इमाम मलिक, बसंत चौधरी, कंचनी चौधरी आदि मौजूद थे।