पटना-बहाली में गड़बड़ी की आशंका पर अभ्यर्थियों का प्रदर्शन

0
3
राजस्व कर्मियों की बहाली में हो रहे विलंब और आरक्षण नियमों की उपेक्षा की आशंका पर सैकड़ों अभ्यर्थियों ने सोमवार को भू अभिलेख एवं परिमाप निदेशालय के समक्ष प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की। अभ्यर्थियों ने निदेशालय के शास्त्रीनगर स्थित कार्यालय के समक्ष जल्द परिणाम घोषित कर बहाली करने की मांग को लेकर हंगामा किया। बहाली के लिए सभी प्रक्रिया पूरी हो गई है। सिर्फ परिणाम घोषित नहीं हुआ है।अभ्यर्थियों का आरोप है कि विलंब कर रिजल्ट में गड़बड़ी तो नहीं की जा रही है। मालूम हो कि राज्य में अमीन, कानूनो, विशेष सर्वेक्षण लिपिक समेत 6800 से अधिक पदों पर बहालियां होने वाली हैं। इनमें विशेष सर्वेक्षण अमीनों के 4950 पद, सामान्य अमीन के 550 पद, कानूनगो के 550 पद, विशेष सर्वेक्षण लिपिक 550 पद और विशेष सर्वेक्षण सहायक बंदोबस्त पदाधिकारी के 275 पद हैं। अभ्यर्थियों की मांग है कि राज्य के बाहर की महिलाओं को 35 प्रतिशत आरक्षण का लाभ नहीं दिया जाए। बिहार के निजी संस्थानों से उत्तीर्ण छात्रों को 40 प्रतिशत का क्रमवार आरक्षण का लाभ मिले। निदेशक जय सिंह के अनुसार अभ्यर्थियों में आरक्षण को लेकर भ्रम है। इसे सरकार और सामान्य प्रशासन विभाग से जरूरी निर्देश लिए जाएंगे। तुरंत परिणाम घोषित नहीं होगा। संवेदनशील मामला है। अभ्यर्थियों को समझाने की कोशिश की जा रही है। कुछ लोग अवरोध करना चाह रहे हैं। प्रयास है कि दस दिनों के अंदर सहायक बंदोबस्त पदाधिकारी के पद का परिणाम घोषित हो जाए। अलग-अलग पदों का परिणाम बारी-बारी से घोषित होगा। सूत्रों के मुताबिक तैयार सूची की बार-बार जांच हो रही है। बताया गया कि मुख्य कठिनाई है मेधा सूची का निर्धारण और काउंसिलिंग में कुछ निर्धारित मापदंडों का पालन नहीं हो सकना है। बिहार के निजी संस्थानों से उत्तीर्ण छात्रों को 40 प्रतिशत का क्रमवार आरक्षण नहीं मिलने की बात भी है। अभ्यर्थियों के अनुभव प्रमाण पत्रों आदि की गणना में भी चूक हुई है।