पटना. बिहार:- बिहार में भी कोरोना ने भयंकर पैर पसारा,कोरोना से सचिव रविशंकर चौधरी की मौत

0
92

पटना. बिहार में कोरोना का संक्रमण अब अपने पैर तेजी से पसार रहा है. अब कोरोना संक्रमण के चलते बिहार के स्वास्‍थ्य विभाग के अपर सचिव रविशंकर चौधरी की मौत हो गई है. वे कुछ दिनों पहले संक्रमित हुए थे और तब ही से उनकी तबियत बिगड़ती जा रही थी. शुक्रवार को चौधरी ने अंतिम सांस ली. रविशंकर चौधरी पटना विश्वविद्यालय से बीएससी किये थे फिर पीयू से ही एमएससी की पढ़ाई की थी।मूलरूप से पटना के रहनेवाले आईएएस ने पटना हाईस्कूल से 10 वी तक कि पढ़ाई की थी।इनके निधन से जहां स्वास्थ्य विभाग में शोक की लहर दौड़ गई है वहीं आईएएस एसोसिएशन भी शोकाकुल है ।एसोसिएशन के सचिव दीपक कुमार सिंह ने कहा कि काफी मिलनसार और कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी थे ।जिस पोस्ट पर भी रहे वहां इन्होंने अपने काम से अपनी पहचान बनाई और विभाग को नया मुकाम दिया।
बिहार में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने का नाम नहीं ले रही है. पिछले 24 घंटे में राज्य में 12,672 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई है. इससे पहले गुरुवार को 11,489 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई थी. पटना सहित छह जिलो में पांच सौ से अधिक नए कोरोना संक्रमित मिले हैं.
पटना में सर्वाधिक 2801 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई. जबकि गया में 816, औरंगाबाद में 748, सीवान में 243, मुजफ्फरपुर में 704, सारण में 617 और बेगूसराय में 607 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। राज्य में पिछले 24 घंटे में 1 लाख 8 हजार 147 सैंपल की कोरोना जांच की गई है.
एक दिन पहले ही राज्य में 59 मरीजों की जान चली गई. संसाधन बढ़ाने और दवा की आपूर्ति को लेकर प्रमंडलीय आयुक्त सजंय अग्रवाल ने अधिकारियों को निर्देश दिया और भरोसा दिया कि कोविड-19 से संबंधित दवाओं की किल्लत नहीं होगी. कोविड की बेसिक दवाएं पर्याप्त हैं. इस संबंध में प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने पटना के जिलाधिकारी, ड्रग इंस्पेक्टर, सभी प्रमुख दवा दुकानदारों, कम्पनी डिस्ट्रीब्यूटर एवं ड्रग एसोशिएशन के साथ बैठक कर लगातार आपूर्ति व स्टॉक का भी निर्देश दिया है.