पटना-बिहार विधानसभा में विपक्ष का हंगामा, बाढ़ पीड़ितों की मदद में नीतीश सरकार को बताया फेल

0
1
बिहार में बाढ़ से मची तबाही को लेकर विपक्ष ने अपनी चिंता जाहिर की। राज्य सरकार द्वारा बाढ़पीड़ितों तक किसी प्रकार की मदद नहीं पहुंचने का आरोप लगाकर विपक्ष ने विधानसभा में जमकर हंगामा किया। सदन और सदन के बाहर विपक्ष ने सरकार विरोधी नारे लगाए। सभाध्यक्ष के बार-बार के आग्रह पर भी सदन में जब विपक्षी सदस्यों का हंगामा शांत नहीं हुआ तो श्री चौधरी ने 2 बजे तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। इससे शून्यकाल और ध्यानाकर्षण नहीं हो सका। विधानसभा में सुबह का सत्र आरंभ होते ही विपक्ष के विधायकों ने बाढ़ को लेकर दिए गए कार्यस्थगन का मुद्दा उठाया। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने उन्हें समय पर इस मुद्दे को उठाने का सुझाव दिया। कहा कि सदस्य यदि चाहें तो बाढ़ की स्थिति पर विशेष बहस करायी जा सकती है। उसके बाद प्रश्नोत्तर काल चला। ठीक 12 बजे सभाध्यक्ष ने वित्तीय कार्यों की वजह से विपक्ष की ओर से आए दोनों कार्यस्थगन प्रस्तावों के नामंजूर किया तो नाराज विपक्षी सदस्य वेल में पहुंचकर हंगामा करने लगे। विधानमंडल दो दिन तक स्थगित हो : सिद्दीकीविधायक अब्दुलवारी सिद्दिकी ने विधानमंडल की कार्यवाही दो दिन तक स्थगित करने की मांग की, ताकि सदस्य अपने-अपने क्षेत्र में जाकर लोगों का हाल-चाल ले सकें। राजद विधायक ललित यादव ने कहा कि लोग बाढ़ से त्राहिमाम कर रहे हैं और उनतक चूड़ा-गुड़ भी नहीं पहुंच रहा है।

विपक्ष बाढ़ पर राजनीति कर रहा : श्रवण
संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि सरकार चर्चा कराने के लिए तैयार है। वह समय पर इस मुद्दे को उठाए। जब विपक्ष की हर बात सुनी जा रही है तब वेल में आकर हंगामा करने का क्या औचित्य है। आरोप लगाया कि विपक्ष बाढ़ जैसे संवेदनशील मुद्दे पर भी राजनीति कर रहा है।