पटना में मंगलवार दोपहर एक घंटे की मूसलाधार बारिश के बाद जल जमाव की स्थिति पैदा हो गई

0
10

पटना में मंगलवार दोपहर एक घंटे की मूसलाधार बारिश के बाद जल जमाव की स्थिति पैदा हो गई. इस एक घंटे की बारिश में बिहार विधान मंडल पानी-पानी हो गया. एंट्री गेट से अंदर तक पानी जमा हो गया. बताया जा रहा है कि ड्रेनेज सिस्टम पूरी तरह ब्लॉक होने की वजह से ये हालात बने.

विधान मंडल जहां बिहार विधानसभा और विधान परिषद है, एक घंटे की बारिश के बाद समंदर में तब्दील हो गया. जैसे ही पटना नगर निगम को इसकी जानकारी मिली वहां तुरंत मजदूरों को लगाया गया और फिर पानी निकाला गया.

बता दें कि बिहार में बाढ़ से 16 जिलों की करीब 74 लाख से अधिक आबादी प्रभावित हुई है. सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, खगड़िया, सारण, समस्तीपुर, सिवान, मधुबनी, मधेपुरा एवं सहरसा जिले बाढ़ से प्रभावित हैं.

PM मोदी से बोले CM नीतीश- बिहार में बाढ़ रोकने के कार्यों में सहयोग नहीं कर रहा नेपाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ की स्थिति की समीक्षा के लिए सोमवार को छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ ऑनलाइन बैठक की थी. इसमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीएम मोदी के साथ बैठक में नेपाल द्वारा बाढ़ को रोकने के लिए सहयोग नहीं करने का मुद्दे उठाया था.