पटना, । सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने फिर यह दोहराया कि मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet Expansion)  को ले भाजपा (BJP) के साथ अभी कोई बातचीत नहीं हुई है।

0
9
पटना, । सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने फिर यह दोहराया कि मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet Expansion)  को ले भाजपा (BJP) के साथ अभी कोई बातचीत नहीं हुई है।  उन्होंने हैरानी जताते हुए कह यह भी कहा कि कैबिनेट विस्तार में पहले कहां इतनी देर होती थी? हमलोग आरंभ में ही कैबिनेट विस्तार कर लेते थे। नीतीश कुमार ने शुक्रवार को सचिवालय (Secretariat)  स्थित अपने कक्ष में बैठक की। इसके बाद लौटने के दौरान मीडिया से बातचीत के क्रम में उन्होंने यह बात कही।

बता दें कि फिलहाल सबकी जुबान पर एक ही सवाल है कि बिहार में कैबिनेट विस्‍तार में आखिर इतनी देर क्‍यों हो रही है?  विधान सभा चुनाव 2020 के बाद एनडीए (NDA) को बहुमत मिलने के बाद 16 नवंबर को सीएम नीतीश के साथ 15 मंत्रियों ने शपथ ली थी। चर्चा थी कि खरमास के बाद  यानी 14 जनवरी के बाद तुरंत मंत्रिमंडल विस्‍तार होगा। एक दिन पहले बीजेपी के बड़े नेताओं की मुख्यमंत्री नीतीश के आवास पर मुलाकात के बाद यह माना जा रहा था कि नए मंत्रियों के नाम पर मुहर लगनी तय है।
सबकी सहमति होगी  तब होगा न कैबिनेट विस्‍तार

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरुवार (7 जनवरी) को भाजपा नेताओं से उनकी मुलाकात जरूर हुई पर मंत्रिमंडल विस्तार पर कोई चर्चा नहीं हुई है। कोई राजनैतिक बात भी नहीं हुई। उन्होंने कहा कि जब सभी की सहमति होगी तभी तो कैबिनेट विस्तार होगा। अभी तो कुल मिलाकर 14 मंत्री ही कैबिनेट में हैं। बिहार के विकास के लिए हमलोग लगातार काम कर रहे हैं। भाजपा  नेताओं के साथ गुरुवार की मुलाकात में उन लक्ष्यों पर बातें हुई हैं जिस पर हमलोग काम कर रहे हैं। सुशील मोदी (Sushil Modi) को पुन: बिहार लाने की चर्चा पर मुख्यमंत्री से जब प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। सुशील मोदी से हमलोगों का पुराना संबंध है। हमलोगों ने बहुत दिनों तक साथ काम किया है।
मुख्यमंत्री ने अंत में कहा कि हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने की योजना के लिए हमने सर्वेक्षण कराने को कहा है। चार विभागों द्वारा जो काम किए जा रहे हैं उसकी समीक्षा की गयी है।